जालंधर में भाजपा नेता के घर रेड:वेस्ट बंगाल की पुलिस के पहुंचने से पहले रवि महेंद्रू फरार, मामले की जांच में नहीं हुए थे शामिल

जालंधर6 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
कोठी के बाहर पसरा सन्नाटा और इनसेट रवि महेंद्रू की फाइल फोटो - Dainik Bhaskar
कोठी के बाहर पसरा सन्नाटा और इनसेट रवि महेंद्रू की फाइल फोटो

पंजाब के जालंधर में भारतीय जनता पार्टी के नेता रवि महेंद्रू के घर पर छापामारी हुई है। रेड पश्चिम बंगाल की पुलिस ने की है। बताया जा रहा है कि छापामारी किसी पैसे के लेनदेन के संबंध में हुई है। रेड से पहले ही रवि महेंद्रू अपने घर से फरार हो गए हैं। पूर्व पार्षद और जिला जालंधर शहरी क्षेत्र के प्रधान रहे महेंद्रू पुलिस के हाथ नहीं लगे हैं।

पश्चिम बंगाल से आए पुलिस अधिकारियों के मुताबिक, भाजपा नेता रवि महेंद्रू के खिलाफ के दुर्गापुर थाने में वहां पर कोई लेनदान में फ्रॉड से जुड़ा मामला दर्ज है। उन्हें जांच में शामिल होने के लिए पहले कई नोटिस भेजे गए, लेकिन महेंद्रू न तो नोटिस का कोई जवाब देते हैं और न ही जांच में शामिल होते हैं। अब कोर्ट के आदेश पर रवि महेंद्रू को गिरफ्तार करने के लिए आए हैं। लेकिन वह घर से फरार हो गए। दुर्गापुर थान में सिर्फ रवि महेंद्रू ही नहीं बल्कि उनके भाई राघव महेंद्रू और घर की महिला अनु महेंद्रू के साथ-साथ उनकी कंपनी कॉनकास्ट प्राइवेट लिमिटेड को भी नामजद किया गया है। सभी के खिलाफ पुलिस ने हेराफेरी या फ्रॉड करने के लिए 420, अमानत में ख़यानत के लिए 406 और सब कुछ षड्यंत्र के तहत करने लिए भारतीय दंड संहिता की धारा 120 बी के तहत मामला दर्ज किया है।

जालंधर पुलिस थाना-2 के प्रभारी कुलदीप सिंह ने कहा कि रवि महेंद्रू खिलाफ वेस्ट बंगाल में कौन का केस दर्ज है, उसके बारे उन्हें कोई जानकारी नहीं, लेकिन वेस्ट बंगाल की पुलिस टीम थाना-2 में जानकारी देने आई थी और उन्होंने सहायता भी मांगी थी। उन्होंने कहा कि रवि महेंद्रू को वे साथ लेकर गए हैं या नहीं, इसकी भी उनके पास कोई जानकारी नहीं है। पश्चिम बंगाल पुलिस ने यह छापामारी रवि महेंद्रू के रोज गार्डन, गुलाब देवी रोड और मॉडल टाउन स्थित घर पर की है।

पश्चिम बंगाल के देवाशीष चटर्जी ने दर्ज करवाया है मामला

बता दें कि भाजपा नेता की अपनी कॉनकास्ट नाम से कंपनी है जिसकी मुख्यालय सोढल रोड पर है। इस कंपनी का काम जम्मू में भी है। वहां पर इनका का टीएमटी सरिया के साथ-साथ कंस्ट्रक्शन मशीनरी का है। इनके खिलाफ वेस्ट बंगाल के देवाशीष चटर्जी पुत्र स्वर्गीय नेपाल चंद्र चटर्जी ने हेराफेरी का मामला दर्ज करवाया है। कोई सामान देवाशीष की कंपनी से महेंद्रू की कंपनी को भेजा गया था। उसे लेकर दोनों में विवाद है। महेंद्रू का कहना है कि उनसे जो माल मंगवाया गया था वह ठीक नहीं था जिसे वापस भिजवा दिया गया था। लेकिन देवाशीष अपना घटिया माल वापस लेने के राजी नहीं है। इसलिए उन्होंने उन के खिलाफ झूठा मामला दर्ज करवाया है।