• Hindi News
  • Local
  • Punjab
  • Jalandhar
  • Where To Throw Garbage, No Option Is Available, Contractor Is Also Worried About Handling 10 Tons Of Garbage Daily In Maqsood Mandi

सिरदर्द:कूड़ा कहां फेंके, नहीं मिल रहा कोई विकल्प, ​​​​​​​मकसूदां मंडी में रोजाना 10 टन कचरा संभालने को ठेकेदार भी परेशान

जालंधर6 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
मंडी बोर्ड से नहीं मिल रहे निगम अफसर, क्योंकि लिफ्टिंग की रखनी है मांग - Dainik Bhaskar
मंडी बोर्ड से नहीं मिल रहे निगम अफसर, क्योंकि लिफ्टिंग की रखनी है मांग

मकसूदां मंडी में सबसे बड़ी समस्या इस समय मंडी के अंदर निकलने वाला 10 टन कूड़ा है, जिसे संभालने के लिए ठेकेदार की तरफ से तो प्रयास किया जा रहा है, लेकिन इतना ज्यादा कूड़ा कहां पर फेंके, यह समस्या अब मंडी बोर्ड के अधिकारियों के लिए सिरदर्द बन गई है।

पिछले हफ्ते विधायक रमन अरोड़ा ने डीसी जसप्रीत सिंह के सामने मंडी में फैली गंदगी के हालातों की जानकारी दी थी, जिसके बाद मंडी बोर्ड के अधिकारियों ने मंडी के अंदर लगे कूड़े के ढेर की फोटो खींची, फाइल तैयार करवाई ताकि निगम अधिकारियों को दिखाई जा सके और मंडी के अंदर फैल रहे कूड़े का हल निकाला जा सके। दो बार मंडी बोर्ड के अधिकारी निगम अधिकारी व हेल्थ अफसर को मिलने के लिए गए, लेकिन मेल नहीं हो पाया। लेकिन मंडी के हालात दिन प्रतिदिन बदतर होते जा रहे हैं।
वेस्टेज संभालने में आ रही मुश्किल

मंडी में कूड़े के पहाड़ बनते जा रहे हैं। अब वेस्टेज भी बढ़ रही है, जिसे फेंकने के लिए खत्म कम पड़ रही है। जितना कूड़ा निकल रहा है, उसे उठाने के लिए निगम तैयार नहीं होगा। मंडी बोर्ड को खुद ही इंतजाम करना होगा, क्योंकि 2 साल पहले कूड़े को संभालने के लिए चर्चा हुई थी, अब दोबारा से मंडी बोर्ड की तरफ से प्रयास किए जा रहे हैं ताकि कोई हल निकाला जा सके।

कमिश्नर बोले- जल्द करेंगे बैठक

निगम कमिश्नर दविंदर सिंह ने कहा कि मंडी बोर्ड के अधिकारी मिलने आए थे, लेकिन मीटिंग के लिए मेल नहीं हो पाई। जल्द ही बैठक होगी। मंडी बोर्ड के सेक्रेटरी सुरिंदर ने बताया कि मंडी में फैले हुए कूड़े की फाइल तैयार की हुई है। किसी कारणवश निगम अधिकारी नहीं मिल पा रहे हैं, जल्द ही संपर्क साधा जाएगा।

खबरें और भी हैं...