जालंधर में किसानों ने किया BJP ऑफिस का घेराव:बैरिकेडिंग कर पुलिस ने आगे जाने से रोका, पुतला फूंक कर बोले किसान नेता- जन्माष्टमी त्योहार का पता नहीं था, प्रदर्शन खत्म कर लौटे

जालंधरएक वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक
जालंधर में बीजेपी आफिस घेरने आए किसान हरियाणा सरकार का पुतला फूंक प्रदर्शन करते हुए। - Dainik Bhaskar
जालंधर में बीजेपी आफिस घेरने आए किसान हरियाणा सरकार का पुतला फूंक प्रदर्शन करते हुए।

हरियाणा के करनाल में किसानों पर लाठीचार्ज के विरोध में किसानों ने सोमवार को जालंधर में BJP के ऑफिस का घेराव किया। इस दौरान मौके पर बैरिकेडिंग कर भारी पुलिस फोर्स तैनात रही। किसान घेराव करने पहुंचे। जिसके बाद उन्होंने हरियाणा सरकार पर लाठीचार्ज कर अमानवीय अत्याचार का आरोप लगा पुतला फूंका। भाजपा आफिस यहां स्थित शीतला माता मंदिर के अंदर बना हुआ है, जहां श्री कृष्ण जन्माष्टमी के चलते भारी संख्या में श्रद्धालू भी आ-जा रहे थे। इसे देखते हुए किसानों ने अपना प्रदर्शन खत्म कर दिया। किसान संगठनों के रक्षाबंधन पर जालंधर-दिल्ली नेशनल हाइवे जाम करने के बाद लगातार सवाल उठ रहे थे कि वो जानबूझकर त्योहारों को निशाना बना रहे हैं।

किसान नेता कुलविंदर सिंह मशियाणा।
किसान नेता कुलविंदर सिंह मशियाणा।

किसान नेता कुलविंदर सिंह मशियाणा ने कहा कि हरियाणा की BJP सरकार ने शांतिपूर्ण प्रदर्शन कर रहे किसानों पर लाठीचार्ज कर हिटलरशाही वाला रवैया अपनाया है। किसानों के साथ अमानवीय अत्याचार किया गया। जिसे वो कतई बर्दाश्त नहीं कर सकते। सोमवार को वो प्रदर्शन करने आए तो उन्हें पता चला कि आज श्री कृष्ण जन्माष्टमी है। इस वजह से उन्होंने जल्दी अपना प्रदर्शन खत्म कर दिया।

किसान संगठन किसी भी धर्म या उनके त्योहारों के खिलाफ नहीं हैं। हमारी लड़ाई भाजपा से है, जो आगे भी जारी रहेगी। उन्होंने भाजपा के प्रदेश प्रधान अश्विनी शर्मा को चैलेंज किया कि वो सर्किट हाउस में पुलिस के पहरे में रात बिताकर किसानों के साथ जिद करके गए हैं। वो पहले बताकर आएं तो किसान उन्हें बताएंगे कि विरोध कैसे होता है। मशियाणा ने कहा कि अगर तीनों कृषि सुधार कानून वापस न लिए और किसानों पर अत्याचार किया गया तो वो भाजपा के आफिस के बाहर पक्के धरने लगा देंगे।

सुरक्षा में तैनात पुलिस कर्मी।
सुरक्षा में तैनात पुलिस कर्मी।

भाजपा विधायक के कपड़े फाड़ने व बंधक बनाने की हो चुकी घटनाएं

केंद्र सरकार के कृषि सुधार कानूनों के विरोध में दिल्ली बॉर्डर पर किसान मोर्चा लगा हुआ है। किसानों के समर्थन में पंजाब में भाजपा का जोरदार विरोध किया जा रहा है। मलोट में भाजपा विधायक अरुण नारंग के कपड़े फाड़े गए। राजपुरा में भाजपा नेताओं को बंधक बनाया गया। जिसे देखते हुए पुलिस अलर्ट है। दो दिन पहले भी भाजपा की प्रदेश स्तरीय बैठक के दौरान सर्किट हाउस में माहौल काफी तनावपूर्ण हो गया था। किसानों ने बैरिकेड व पुलिस का नाका तोड़कर सर्किट हाउस में घुसने की कोशिश की थी।

खबरें और भी हैं...