पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

पूर्व डायरेक्टर पहुंचे जांच करने:जाली साइन कर एसोसिएट प्रोफेसर के एरियर की राशि निकलवाई, एसजीपीसी के डरोली कलां कॉलेज की जांच शुरू

जालंधरएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक
खालसा कॉलेज में इंस्पेक्शन करने पहुंची टीम से मिलने के लिए गाड़ी में अंदर जाते हुए शिकायतकर्ता एचएस मिनहास।
  • प्रिंसिपल और शिकायतकर्ता के बयान दर्ज, रिकॉर्ड जब्त

गुरु नानक खालसा कॉलेज डरोली कलां के प्रिंसिपल पर कॉलेज की पूर्व एसोसिएट प्रोफेसर सुखजिंदर कौर से 11 लाख के फ्रॉड का मामला सामने आया है। जिसे लेकर मंगलवार को शिरोमणि गुरुद्वारा प्रबंधक कमेटी के पूर्व डायरेक्टर एजुकेशन डॉ. जेएस सिद्धू की अगुआई में टीम कॉलेज में जांच करने पहुंची।

टीम ने प्रिंसिपल साहिब सिंह के साथ सुपरिंटेंडेंट और शिकायतकर्ता एसोसिएट प्रोफेसर सुखजिंदर सिंह के पति एचएस मिन्हास रिटायर्ड जीएम रोडवेज को मौके पर बुलाकर बयान दर्ज किए और रिकॉर्ड को अपने कब्जे में लिया। एचएस मिन्हास ने बताया कि उनकी पत्नी की हालत ठीक न होने के चलते 16 मार्च 2016 को वह एडवांस नोटिस देकर 3 महीने की सैलरी जमा करवाकर स्वै इच्छा से रिटायरमेंट लेकर 18 मार्च 2016 को कैनेडा चले गए।

कॉलेज प्रिंसिपल ने डीपीआई कॉलेजिस की तरफ से सीनियर स्केल व सिलेक्शन ग्रेड के एरियर की राशि की अदायगी के लिए सुखजिंदर कौर के नाम पर 10 मई 2016 को 9,97,674 का चेक पंजाब एंड सिंध बैंक डरोली कलां के लिए जारी किया था। इससे पहले उन्होंने 87,396 हजार रुपए मेरी पत्नी के नाम पर अदायगी दिखाई, लेकिन दोनों अमाउंट मेरी पत्नी के खाते में जमा ही नहीं हुई।

जब पड़ताल की तो पता चला कि जो चेक बैंक को भेजा गया था उस को बियरर बनाकर कैश अदायगी के लिए कटिंग करके साइन किए गए हैं। जबकि मेरी पत्नी कैनेडा जाने के बाद अब तक वापस भारत नहीं लौटी है। इसलिए उसके जाली दस्तावेज करके कॉलेज सुपरिंटेंडेंट की तरफ से कैश रकम बैंक से हासिल की गई है, जिसके सभी प्रूफ भी एसजीपीसी को जमा करवाए गए हैं।

हालांकि कॉलेज ने इसे गलती मानते हुए 17 अक्तूबर 11 लाख से ज्यादा की अमाउंट सुखजिंदर कौर के अकाउंट में दोबारा से जमा करवा दी गई। वहीं एचएस मिन्हास ने कहा कि यह बड़ा फ्रॉड, जिसकी तफतीश जरूरी है। उन्होंने कहा कि उक्त प्रिंसिपल साल 2009 से कॉलेज में तैनात है इस लिए एसजीपीसी उसकी सारी डिटेल चैक करे, क्योंकि अगर एसोसिएट प्रोफेसर के साथ धोखा हो सकता है तो आम लोगों के साथ क्या होता होगा।

प्रिंसिपल बोले- जांच करने नहीं, मेरे दोस्त मिलने आए

कॉलेज प्रिंसिपल साहिब सिंह ने कहा कि कॉलेज में टीम नहीं मेरी दोस्त आए थे और यह कहकर उन्होंने फोन काट दिया और दोबारा फोन नहीं उठाया। जबकि शिकायतकर्ता एचएस मिन्हास ने बताया कि मंगलवार को टीम जांच करने पहुंची और उन्होंने खुद कॉलेज जाकर अपने बयान दर्ज करवाए हैं।

आज का राशिफल

मेष
Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
मेष|Aries

पॉजिटिव- दिन उन्नतिकारक है। आपकी प्रतिभा व योग्यता के अनुरूप आपको अपने कार्यों के उचित परिणाम प्राप्त होंगे। कामकाज व कैरियर को महत्व देंगे परंतु पहली प्राथमिकता आपकी परिवार ही रहेगी। संतान के विवाह क...

और पढ़ें