पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

पंजाबभर में पहले से दर्ज हैं करीब 14 मामले:शीतला मंदिर से 19 साल पहले स्नैचिंग कर भागी महिला अरेस्ट, होगा कोरोना टेस्ट

जालंधर3 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
16 साल के बाद गिरफ्तार की महिला के बारे में बताते एसएचओ मुकेश। - Dainik Bhaskar
16 साल के बाद गिरफ्तार की महिला के बारे में बताते एसएचओ मुकेश।

शीतला मंदिर के पास से 2 अप्रैल 2002 काे महिला से चेन स्नैचिंग के मामले में थाना-3 की पुलिस ने 19 साल से फरार महिला को गिरफ्तार किया है। आरोपी महिला छिंदर कौर पत्नी दर्शन सिंह उर्फ गुरदीप कुमार उर्फ काला के खिलाफ 2 अप्रैल 2002 को थाना-2 में आईपीसी की धारा 356, 379, 411 और 34 आईपीसी की के तहत मामला दर्ज किया था। एसीपी नॉर्थ सुखजिंदर सिंह ने बताया कि 2002 में दर्ज मामले के अनुसार आरोपी महिला स्नैचिंग कर फरार हो गई थी।

उसी रात थाना-2 में आरोपी महिला के खिलाफ पर्चा दर्ज कर अगले दिन गिरफ्तारी हुई थी। इसके बाद उसे कोर्ट में पेश कर रिमांड पर लिया गया और फिर जुडीशियल रिमांड पर भेज दिया गया। घटना के दो साल बाद महिला को पुलिस ने बेल ग्रांट की। जब वह छुट्टी काटने के लिए जेल से बाहर आई तो महिला ने अपनी बेल जंप कर दी। जब इस मामले के बारे में कोर्ट को पता चला तो 20 जनवरी 2005 को उन्होंने आरोपी महिला को पीओ (भगोड़ा) घोषित किया था। अब थाना-3 की पुलिस ने 16 साल बाद गिरफ्तार किया है। आरोपी महिला को पुलिस कोर्ट में पेश कर कोरोना टेस्ट करवाएगी।

संगरूर के गांव से किया गिरफ्तार

एसीपी नॉर्थ सुखजिंदर सिंह ने बताया कि आरोपी महिला के खिलाफ चाेरी, स्नैचिंग के कई मामले दर्ज हैं। एक जिले में वारदात कर अाराेपी महिला कुछ दिन के लिए दूसरे जिले में जाकर रहने लगती थी। महिला ने अलग-अलग नाम से कई अाधार कार्ड बनवाए। पति का नाम भी अलग हाेने के कारण पुलिस काे कई बार महिला चकमा देने में कामयाब रही। महिला का पैतृक गांव बागड़ियां अमरगढ़, संगरूर है। थाना-3 के एसएचओ मुकेश कुमार को सूचना मिली थी कि उक्त महिला लंबे समय से संगरूर में है। पुलिस ने संगरूर में रेड कर उसे गांव से गिरफ्तार किया।

खबरें और भी हैं...