• Hindi News
  • Local
  • Punjab
  • Jalandhar
  • Worry Third Elderly Person Died Of Corona In 14 Days, 7 Newly Infected; Alert SMOs Will Keep An Eye On The Travelers Coming From Abroad

निर्देश जारी:चिंता- 14 दिन में कोरोना से तीसरे बुजुर्ग की मौत, 7 नए संक्रमित; अलर्ट- विदेश से आए यात्रियों पर नजर रखेंगे एसएमओज

जालंधर2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
नए वेरिएंट को लेकर एसएमओज के साथ मीटिंग करते हुए सिविल सर्जन डॉ. रंजीत सिंह। - Dainik Bhaskar
नए वेरिएंट को लेकर एसएमओज के साथ मीटिंग करते हुए सिविल सर्जन डॉ. रंजीत सिंह।
  • हाई रिस्क कंट्री से आए लोगों की मॉनिटरिंग करनी होगी, निगेटिव रिपोर्ट हो तो भी विदेश से आए लोगों को 7 दिन घर में रहना होगा
  • आठवें दिन दोबारा से कोविड का टेस्ट करवाना पड़ेगा

कोरोना अभी गया नहीं है, इसका प्रमाण बुधवार को सिटी में 7 नए संक्रमितों की पुष्टि और 14 दिन में तीसरे बुजुर्ग की मौत होना है। सेहत विभाग के अनुसार मृतक आदमपुर में रहने वाला 84 साल का बुजुर्ग था। उन्हें कोरोना के अलावा कोई बीमारी नहीं थी। जालंधर कैंट स्थित अस्पताल में सीधे लेवल-3 की श्रेणी में दाखिल हुए थे। बता दें कोरोना से 18 और 26 नव‌ंबर को दो बुजुर्गों की मौत हो चुकी है। जबकि दम तोड़ने वाले तीनों मरीज अस्पताल में 8 से 11 दिन तक दाखिल रहे थे।

अब तक जिले में 1499 मौतें और 63494 लोग संक्रमित हो चुके हैं। उधर, कोरोना के नए वैरिएंट को लेकर सेहत विभाग और स्टेट हेल्थ डिपार्टमेंट की तरफ से डॉक्टर्स के साथ मीटिंगों का दौर जारी रहा है, ताकि नए वैरिएंट को लेकर सावधानियों को पालन किया जा सके। सेहत विभाग के अनुसार बुधवार को शहर के पॉश एरिया में एक ही घर में रहने वाले 21 साल के युवक और 54 साल की महिला को कोरोना संक्रमण की पुष्टि हुई है। सेहत विभाग वीरवार को मरीजों के कॉन्टेक्ट ट्रेस करेगा। इसके बाद इन लोगों के सैंपल लिए जाएंगे। जबकि वीरवार को एरिया सील करने के लिए जिला प्रशासन को लिखा जाएगा। बता दें कि वर्तमान में जालंधर कुंज के कुथ हिस्से को माइक्रो कंटेनमेंट की सूची में रखा गया है।

हाई रिस्क कंट्रीज से नवंबर में 55 लोग जालंधर पहुंचे, किसी को संक्रमण की पुष्टि नहीं हुई, सैंपलिंग तेज करने के आदेश जारी

कोरोनावायरस के नए वैरिएंट ओमिक्रोन (B.1.1.529) की मॉनिटरिंग को लेकर सेहत विभाग के जिला स्तरीय अफसरों के साथ सिविल सर्जन ने बुधवार को मीटिंग की। मीटिंग में डब्ल्यूएचओ के सीनियर डॉक्टर भी मौजूद रहे। सिविल सर्जन डॉ. रंजीत सिंह ने बताया कि कोरोना की सैंपलिंग को लेकर निर्देश जारी किए हैं कि सैंपलिंग को बढ़ाया जाए। सिविल सर्जन ने कहा कि इसके अलावा जिस एरिया में अगर कोई हाई रिस्क कंट्री से जिले में कोई यात्री आता है तो उसे क्वारेंटाइन किया जाए। गाइडलाइंस के तहत एयरपोर्ट से टेस्ट करवाकर आने वाले यात्री का घर पहुंचने पर सात दिन क्वारेंटाइन रहने के बाद आठवें दिन दोबारा से कोविड का टेस्ट होगा। उधर, हाई रिस्क कंट्री से कुल 55 यात्री आ चुके हैं। हालांकि वे बीते माह पहुंचे, लेकिन किसी भी यात्री को संक्रमण की पुष्टि नहीं हुई है।

माइक्रो कंटेनमेंट जोन में लोगों को घरों में रोकने के लिए पुलिस का प्रबंध कर रहे हैं- सिविल सर्जन

Q. नए वैरिएंट को लेकर विभाग की क्या तैयारी है?
- एसएमओ को स्टेट से मिले निर्देशों स्पष्ट कर दिए हैं। विदेश से आने वाले हर व्यक्ति से डॉक्टर संपर्क कर रहे हैं। वर्तमान में नए वैरिएंट का कोई केस नहीं है।

Q. जीनोम सिक्वेंसिंग किस आधार पर होगी?

- हमारी आरटीटी टीमें संक्रमित मरीजों से फोन पर संपर्क करती हैं। एसएमओ को हैं कि विदेश से आए व्यक्ति के संक्रमित आने पर उसका सैंपल लेकर जीनोम के लिए भेजा जाए। इसके अलावा संपर्क में आने वाले लोगों की भी पहल के आधार पर सैंपलिंग हो।

Q. सैंपलिंग को लेकर क्या रणनीति है?
- सूबे में जालंधर सैंपलिंग में दूसरे स्थान पर है। रोजाना 3 हजार से ज्यादा लोगों की सैंपलिंग हो रही है। हालांकि विदेश से आने वाले यात्रियों के लिए अलग से टीम तैनात है, जो मरीजों के संपर्क कर रही है।

Q. माइक्रो कंटेनमेंट जोन में लोग घर में नहीं रुकते, सैंपलिंग नहीं करवाते, क्या करेंगे?
- माइक्रो कंटेनमेंट जोन में मरीजों के संपर्क में आने वालों की माॅनिटरिंग की जा रही है। लोग घरों में नहीं रुकते, ऐसा भी देखने को मिल रहा है। इसके मुद्दे को लेकर पुलिस के साथ बात की जा रही है।

खबरें और भी हैं...