फ्यूज उड़ा:11 केवी की तारों में उलझती रही डोर, 14 घंटों में 35 बार ट्रिपिंग, प्रेम नगर सहित 30 मोहल्लों की बत्ती प्रभावित

पठानकोट12 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
  • प्रेम नगर में दो फेस टकराने से उड़ा फ्यूज, 56 मिनट बिजली रही बंद

सिटी में लोहड़ी के त्याेहार पर युवाओं ने खूब पतंगबाजी की। पतंग उड़ाने में चाइना डोर का भी जमकर इस्तेमाल हुआ। वहीं, पतंगबाजी के चक्कर में इलेवन केवी में डोर उलझने से बीते 16 घंटों में गांधी चौक, प्रेम नगर, रेलवे रोड व प्रीत नगर में ब्रेक डाउन होने से घंटों बिजली बंद रही। दिनभर में 35 बार ट्रिपिंग हुई जिससे सुंदर नगर, माडल टाउन, प्रेम नगर, गांधी चौक, ब्रह्माशैल, प्रीत नगर, खुशी नगर, कच्चे क्वाटर, प्रताप नगर, चार मरला क्वाटर, कालेज रोड, पटेल चौक, सराई मोहल्ला, रेलवे रोड, इंदिरा कालोनी, डलहौजी रोड, मिशन रोड, रामलीला ग्राउंड, सैली रोड, बसंत कालोनी, ढांगू रोड, पुरानी सब्जी मंडी एरिया, सैनगढ़, राम नगर चार मरला सहित 40 मोहल्लों में बिजली आती-जाती रही। बिजली के आने जाने से लोहड़ी पर एंज्वाय करने के लिए छतों पर लगाए डीजे की आवाज थमी रही। लोहड़ी पर गट्टू डोर का इस्तेमाल रोकने के लिए जिला प्रशासन भी इस बार ठंडा दिखा। छापेमारी को लेकर कहीं पर भी कोई टीम नहीं दिखी।

वीरवार की सुबह 6 बजे से ही शहर के पटेल चौक सहित तीन दर्जन से अधिक मोहल्लों में ट्रिपिंग होने से बिजली आती-जाती रही। प्रीत नगर फीडर के तहत आते एरिया दुर्गा माता मंदिर के निकट 200 केवी ट्रांसफार्मर का मेन फ्यूज उड़ गया, जिससे 45 मिनट बिजली बंद रही सुबह पौने ग्यारह बजे की बंद बिजली दाेपहर पौने बारह बजे आई। गांधी चौक फीडर के तहत आते एरिया में अर्थ फाल्ट आने से ब्रेक डाउन हो गई जिससे 42 मिनट बिजली बंद रही 11:38 की बंद बिजली 12:20 पर आई। प्रेम नगर एरिया में दो फेस आपस में टकराने से फ्यूज उड़ गए। रेलवे रोड फीडर के तहत आते एरिया मोहल्ला घरथोली में इलेवन केवी पर डोर फंसने से पलचा पड़ गया आधा घंटा बिजली बंद रही। प्रीत नगर, प्रेम नगर, गांधी चौक रोड पर घंटों बिजली बंद रहने से लोगों को पीने योग्य पानी की दिक्कत रही। पावरकॉम अधिकारियों का कहना है कि कटों का कारण तारों में उलझी चाइनीज डोर हैं। पावरकॉम अधिकारियों की मानें तो लोहड़ी पर दिनभर पतंगबाजी से चाइना डोर तारों में उलझती रही इससे डोर पर चढ़ी सिलीकॉन की परत के कारण फ्यूज ट्रिप होते रहे। वहीं सुबह-शाम पड़ रही ओस से डोर गीली हो जाती है जिससे ट्रिपिंग की समस्या बढ़ जाती है।

खबरें और भी हैं...