पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

तैयारी शुरू:24 बेड का बना पीडियाट्रिक वार्ड, आक्सीजन सेंटर सप्लाई का काम शुरू, कोरोना के 17 नए मरीज मिले

पठानकोटएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक
  • कोरोना की तीसरी लहर से निपटने के लिए सिविल अस्पताल में तैयारियां शुरू
  • 46 हुए स्वस्थ, एक्टिव मरीजों की संख्या हुई 194, मरने वालों की संख्या हुई 406

जिला प्रशासन ने कोरोना की तीसरी लहर की ईआशंका को लेकर सिविल अस्पताल में 24 बेड के बनाए गए पीडियाट्रिक वार्ड में आक्सीजन सेंटर सप्लाई का काम शुरू करवा दिया है। ताकि लेवल-2 के बच्चे आते हैं तो इस वार्ड में भर्ती रखकर ट्रीटमेंट किया जा सके। इससे पहले जिला प्रशासन ने बुंगल बधानी सीएचसी में 25 बेड के बनाए गए सिविल के पीडियाट्रिक वार्ड में आक्सीजन सेंटर सप्लाई की पाइपों को एमसीएच में बने आइसोलेशन वार्ड की पाइपों के साथ जोड़ा जाएगा। एसएमओ ने बताया कि पीडियाट्रिक वार्ड में आक्सीजन सेंटर सप्लाई का काम शुरू हो गया है।

1364 लोगों का लिया गया कोरोना सैंपल
जून महीने में लगातार जिले में कोरोना का ग्राफ नीचे गिर रहा है। जिससे पॉजिटिव मरीजों की संख्या में कमी आई है। शुक्रवार को कोरोना से किसी की मौत नहीं हुई। वहीं कोरोना के 17 नए मरीज मिले हैं। जबकि 46 लोगों को स्वस्थ होने पर डिस्चार्ज किया गया। जिससे जिले में अब एक्टिव मरीजों की संख्या घटकर 194 रह गई है। सिविल सर्जन डाॅ. हरविंद्र सिंह ने बताया कि शुक्रवार जिले में 1364 लोगों के कोरोना की जांच हेतु सैंपल लिए गए।

2022 लाेगाें काे लगी वैक्सीन
शुक्रवार को सिटी में 13 वैक्सीनेशन सेंटरों और रूरल एरिया में 18 से 44 के 1425 को वैक्सीन लगी। कुल 2022 लोगों को वैक्सीन लगी। जिसमें एक हेल्थ केयर वर्कर को दूसरी डोज, फ्रंट लाइन वर्करों में 165 लोगों को पहली और 16 लोगों को दूसरी, 45 प्लस वालों में 277 को पहली और 45 प्लस के 138 लोगों को दूसरी डोज लगी। जिले में 18 से 44 वर्ष के अब तक 16055 लोगों को वैक्सीन लग चुकी है। जिले में अब तक 201455 लोगों को वैक्सीन लग चुकी है।
वेंटिलेटर की सुविधा नहीं|सिविल में बच्चों के तीन डाॅक्टर हैं। जबकि सिविल में बच्चों के लिए आईसीयू और वेंटिलेटर की सुविधा नहीं है।

खबरें और भी हैं...