• Hindi News
  • Local
  • Punjab
  • Jalandhar
  • Pathankot
  • A Year And A Half Ago, A Fire Safety System Was Installed For 1 Crore, The Store Kept Burning For 90 Minutes, Yet Neither The Alarm Sounded Nor The Water Started.

सवाल:डेढ़ साल पहले 1 करोड़ में फायर सेफ्टी सिस्टम लगाया गया था 90 मिनट जलता रहा स्टोर, फिर भी न अलार्म बजा न पानी चला

पठानकोट10 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
  • दवाओं के स्टोर में भी फायर सेफ्टी सिस्टम की पाइप लाइन पड़ी हुई

सिविल सर्जन ऑफिस की बिल्डिंग में डीएमसी कमरे के बिल्कुल सामने दवाओं के स्टोर में लगी आग को लेकर सवाल उठ रहे हैं कि जब पहले धुंआ निकला तो सिविल अस्पताल की पूरी बिल्डिंग में एक करोड़ की लागत से लगाए गए अत्याधुनिक फायर सेफ्टी सिस्टम की पाइप लाइन (आटोमेटिक फायर डिडक्शन एंड अलार्म) और सिस्टम में लगी पाइपों से पानी क्यों नहीं चला? दवाओं के स्टोर में भी फायर सेफ्टी सिस्टम की पाइप लाइन पड़ी हुई है। हैरानी की बात है कि डीएमसी कमरे के साथ दवाओं के स्टोर के बाहर कहीं भी सीसीटीवी कैमरे नहीं लगे हैं, ताकि पता चल सकें कि आग कैसे लगी? इस बीच सेहत अधिकारियों का कहना है कि दवाओं के स्टोर में आग लगने के मामले की जांच को लेकर 6 मेंबरी टीम का गठन किया है। डेढ़ घंटे जलता रहा स्टोर लेकिन फायर सेफ्टी सिस्टम नहीं चला।

जांच टीम में डाॅ.सुनील, डाॅ.मधुर मट्टू, डाॅ. विश्व बंधू, डाॅ. विशाल कोहली, सीनियर फार्मेसी ऑफिसर राकेश कुमार और सीनियर चीफ फार्मेसी ऑफिसर त्रिशला देवी को लगाया गया है। टीम यह पता लगाएगी कि आग कैसे लगी और कितना नुकसान हुआ। जब आग लगी तो अत्याधुनिक फायर सेफ्टी सिस्टम की पाइपाें से पानी की बौछारें क्यों नहीं की गईं। इस संबंधी इस सिस्टम को लगवाने वाले विभाग को भी पत्र निकाला गया है।

खबरें और भी हैं...