पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

रक्षाबंधन आज:29 साल बाद अद्भुत संयोग, सुबह 9.30 के बाद बहनें जब चाहे बांधें राखी

पठानकोट2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
  • चीन से तनाव के चलते बहनें खरीद रही स्वदेशी राखी, भाइयों ने भी बहनों के लिए खरीदे गिफ्ट

राखी की पूर्व संध्या पर बाजारों में खूब रौनक दिखी। इस दौरान बहनों ने जमकर राखियों की खरीदारी की। बता दें कि जिला प्रशासन ने राखी के त्योहार को ध्यान में रखते हुए रविवार को बाजार खोलने की छूट दी। लोगों ने भी खरीदारी की। हालांकि, इस बार लोगों ने राखी पर मिठाई के बजाय अधिकतर बेकरी से बनी चीजें, फल फ्रूट और सूखे मेवे की खरीदारी की। राखी विक्रेता दुकानदार रिपल ने कहा कि शुक्र है राखी के एक दिन पहले जिला प्रशासन ने संडे को बाजार खोल दिए। इस बार बीते दिनों में राखियों का धंधा बेहद मंदा चला था। चाइनीज राखियों का बहिष्कार कर लोग अब मौली युक्त धागानुमा राखियों की ही खरीदारी कर रहे हैं। इसके चलते इस बार बीते दिनों में करीब 60 प्रतिशत धंधा मंदा रहा है। वहीं, 29 साल बाद रक्षा बंधन पर महासंयोग बना रहा है।

इस बार सारा दिन बहनें भाई को राखी बांध सकेंगी। गौंसाईपुर स्थित बाबा लाल दयाल मंदिर के पुजारी व सनातन धर्म रक्षक समिति के जिला संयोजक प्रसिद्ध ज्योतिष आचार्य रमेश शास्त्री बताते हैं कि इस बार 29 साल के बाद महासंयोग आया है। बहनें सारा दिन राखी बांध सकती हैं। 3 अगस्त को रक्षाबंधन के दिन भद्रकाल सुबह 9.29 मिनट तक ही रहेगा।

इसके बाद सारा दिन मुहूर्त शुभ रहेगा। क्योंकि, इस बार 29 साल बाद तीन महासंयोग स्वार्थ सिद्धि, आयुष्मान एवं दीर्घायु यह तीन प्रकार योग एक साथ प्रभावी होंगे। इस दिन गुरु अपनी धनु राशि और शनि मकर में वक्री की चाल में रहेगा। वहीं, चंद्रमा हर ढाई दिन में अपनी राशि बदलता है। रक्षाबंधन पर शनि के साथ मकर राशि में रहेगा जो कि शुभ योग है।

सारा दिन खरीदारों से गुलजार रहे शहर के बाजार

पंडित राजेश पराशर, ज्योतिषाचार्य अमित पाराशर ने कहा कि भद्राकाल के दौरान यदि राखी बांधना मजबूरी हो तो फिर बहनों को चाहिए कि वह कुशा पर मौली बांधकर दक्षिणा के साथ किसी ब्राह्मण को देने के बाद राखी बांध सकती हैं। वहीं, गलवान की घटना के बाद भारत-चीन की लद्दाख सीमा पर बढ़े तनाव के चलते बाजार में स्वदेशी राखियों की डिमांड रही।

बहनें स्वदेशी राखियां पसंद करती दिखीं। खरीदारी करने के लिए आई महिलाओं ने कहा कि चीनी सैनिक हमारे बाजार की कमाई खाते हैं और हमारे की सैनिकों पर हमला करते हैं। इस कारण वह चाइनीज राखी की खरीद नहीं करेगी। उधर, पुरुषों ने घरों में पकवान तैयार करने के लिए पनीर, खोया और फलों की खरीद की। भाइयों ने बहनों के लिए गिफ्ट खरीदे। गिफ्ट आइटम की खरीदारी के लिए रविवार को गिफ्ट कॉर्नर, मोबाइल, ज्वेलरी, कपड़ों की दुकानों पर भीड़ लगी रही। सारा दिन शहर खरीदारों से गुलजार रहा।

0

आज का राशिफल

मेष
Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
मेष|Aries

पॉजिटिव - आज उन्नति से संबंधित शुभ समाचार की प्राप्ति होगी। धार्मिक और आध्यात्मिक कार्यों में भी कुछ समय व्यतीत होगा। किसी विशेष समाज सुधारक का सानिध्य आपके अंदर सकारात्मक ऊर्जा उत्पन्न करेगा। बच्चे त...

और पढ़ें