पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

बड़ा झटका:नहीं माने बिट्टू, विधायक दिनेश बब्बू की घेराबंदी कर रहे हैं वर्कर

पठानकोट8 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
  • तीन दिन बाद भी राजकुमार गुप्ता पार्टी छोड़ने के फैसले पर अड़े रहे

सुजानपुर नगर कौंसिल प्रधान के चुनाव में पार्टी की व्हिप राजकुमार गुप्ता बिट्टू के नाम की होने के बावजूद विधायक दिनेश सिंह बब्बू द्वारा नहीं खोलने को लेकर भाजपा वर्कर जहां दिनेश बब्बू को घेर रहे हैं वहीं पार्टी फोरम पर भी नोटिस जारी कर जवाब-तलब करने का दबाव बन रहा है। मानमनौवल के बावजूद तीन दिन बाद भी राजकुमार गुप्ता ने पार्टी छोड़ने के फैसले पर अड़े हैं जबकि कई नेता उन्हें मनाने पहुंच चुके हैं।

\वहीं अपने जिले में ही इस बड़ी चूक पर भाजपा पंजाब प्रधान अश्वनी शर्मा का कहना है कि जिला प्रधान को जांच के लिए कहा गया है उनकी रिपोर्ट के बाद अगली कार्यवाही की जाएगी। 3 जून को हुए कौंसिल प्रधान चुनाव के दौरान पार्टी के व्हिप को विधायक दिनेश सिंह बब्बू ने निकाला ही नहीं और न ही कांग्रेस की अनुराधा बाली के प्रधान बन जाने का कोई विरोध किया। इसे दिनेश बब्बू और कौंसिल के पूर्व प्रधान राजकुमार बिट्टू के बीच की खींचतान और गुटबाजी से जोड़कर देखा जा रहा है।

बब्बू के अनुराधा बाली के हांथ बिक जाने का आरोप लगाते हुए 5 बार के पार्षद रहे राजकुमार बिट्टू ने भाजपा छोड़ने का एलान कर दिया था। जिलाध्यक्ष विजय शर्मा, अनिल रामपाल, विपन महाजन समेत कई नेताओं के मनाने के बावजूद बिट्टू अभी तक अपने स्टैंड पर कायम हैं। दिनेश बब्बू कह चुके हैं कि कांग्रेस में विरोध नहीं होने के कारण वे पार्टी व्हिप नहीं निकाल सके और न विरोध कर सके। लेकिन पार्टी उनके इस बयान से संतुष्ट नहीं है। भाजपा वर्कर भी उन्हें घेर रहे हैं। सोशल मीडिया पर लगातार बब्बू के खिलाफ कमेंट और पोस्टें लिखी जा रही हैं। कुछ लोगों ने तो भस्मासुर की कथा के साथ उन्हें भाजपा के लिए आत्मघाती तक कह डाला है तो कई नेताओं ने पार्टी प्रधान अश्वनी को पत्र लिखकर पूरे मामले की गंभीरतापूर्वक जांच करने की मांग उठाई है अन्यथा पार्टी वर्करों का मनोबल टूटेगा और यह भाजपा के गढ़ वाले पठानकोट जिले में पार्टी को बड़ा झटका होगा।
अश्वनी बोले- मानदंडों से समझौता नहीं

पंजाब भाजपा प्रधान अश्वनी शर्मा का कहना है कि भाजपा अपने मानदंडों से समझौता नहीं करेगी और गंभीर है। हमने जिलाध्यक्ष को पत्र लिखकर पूरे मामले की विस्तृत रिपोर्ट मांगी है कि व्हिप जारी होने के बावजूद अमल में क्यों नहीं लाया गया। रिपोर्ट के मुताबिक कार्रवाई होगी। उधर जिलाध्यक्ष विजय शर्मा से पूछने पर उनका कहना था कि हम घटनाक्रम पर सभी पार्षदों और विधायक से बात कर रहे हैं जल्दी ही हाईकमान को रिपोर्ट भेज देंगे।

खबरें और भी हैं...