अच्छी खबर / गायनीकोलॉजिकल सेवाओं के लिए एक जून से ई-संजीवनी ओपीडी की होगी शुरुआत

X

  • गर्भवती को दवा व खुराक के अलावा आम देखभाल की सलाह मिलेगी

दैनिक भास्कर

May 23, 2020, 05:00 AM IST

पठानकोट. सिविल सर्जन डॉ. विनोद सरीन ने बताया कि जिला पठानकोट में ई-संजीवनी अॉनलाइन ओपीडी पर एक जून से गायनीकोलॉजिकल सेवाओं की शुरुआत होगी। इससे कोरोना महामारी में लोगों को काफी सुविधआ मिलेगा। वहीं,  जिला परिवार के भलाई अफसर डॉक्टर राकेश सरपाल ने बताया कि कोविड-19 के मद्देनजर अस्पतालों में भीड़ को रोकने के लिए टेलीमेडिसन प्रोग्राम राज्य भर में शुरू हो चुके हैं।

आम बीमारियों के अलावा अब सेहत विभाग जच्चा-बच्चा सेहत संभाल सेवाएं (एमसीएच) को यकीनी बनाने के लिए 1 जून से जच्चा-बच्चा सेवा मुहैया करवाने के मकसद के साथ ई-संजीवनी ओपीडी की शुरुआत करने जा रहे हैं। कोविड-19 महामारी में गर्भवती महिलाओं के प्रबंधन के लिए यह सेवाएं बहुत मददगार होंगी। इस 
अधीन दवाएं, खुराक और आम देखभाल की सलाह भी दी जाएगी।

उन्होंने बताया कि जच्चा-बच्चा ओपीडी का समय सोमवार से शनिवार तक सुबह 8 से साढ़े 9 बजे तक होगा। इसकी जिले में तीन डाक्टरों को ट्रेनिंग भी दी जा चुकी है। 2 जच्चा-बच्चा के माहिर डॉक्टर जिला अस्पताल पठानकोट और एक डॉक्टर सीएससी सुजानपुर से ई-संजीवनी ओपीडी के जरिए गर्भवती महिलाओं को सेहत सेवाए प्रदान करेंगे।

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना