पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

सिटी को गार्बेज फ्री बनाने की तैयारी:शहर को कूड़ा मुक्त करने के उद्देश्य से निगम सिटी के सभी 35 सरकारी स्कूलों में खाद बनाने को बनवाएगा पिट, सर्वे शुरू

पठानकोटएक वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक
  • पढ़ाई के साथ-साथ स्कूलों में बनेगी खाद, बच्चे सफाई के प्रति होंगे जागरूक

पठानकोट सिटी को गार्बेज फ्री बनाने के लिए नगर निगम की ओर से काम करना शुरू कर दिया है। अब स्कूलों में इकट्ठा होने वाले कचरे से खाद बनाई जाएगी, मसलन पढ़ाई के साथ साथ एक्स्ट्रा वर्क भी होगा। इसके लिए नगर निगम की ओर से सिटी के लगभग 35 सरकारी स्कूलों में पिट बनवाए जाएंगे, जिसका सर्वे शुरू कर दिया गया है।     निगम अधिकारियों का मानना है कि स्कूलों में कूड़े से खाद बनाने के दो फायदे होंगे, बच्चे घर पर जाकर अपने अभिभावकों को गीले और सूखे कूड़े को अलग-अलग करने के बारे में अवेयर करेंगे। सॉलिड वेस्ट मैनेजमेंट रूप 2016 के अंतर्गत शहर को जीरो गार्बेज बनाने को निगम गार्बेज की डी सेंट्रलाइज्ड प्रोसेसिंग शुरू करना है। इसके लिए सर्वे कर सरकारी स्कूलों में पिट बनाने के लिए जगह की चिन्हित की जाएगी।

इन स्कूलों में 2-2 पिट बनाए जाएंगे और उसकी चारदीवारी की जाएगी। इसमें रोजाना स्कूल से इकट्ठा होने वाले कूड़े को लाकर डाला जाएगा और गीले कूड़े से खाद बनाई जाएगी तथा सूखा कूड़ा अलग करने के बाद आगे डेयरीवाल में डंप तक भेजा जाएगा। पिट बनाने के लिए बाद स्कूल का कूड़े का स्कूल में ही निस्तारण होगा। इसके लिए निगम के मोटिवेटर स्कूलों में संचालकों और मुलाजिमों को ट्रेनिंग देंगे। 

शहर के पार्कों में बनाए गए हैं पिट
अभी तक निगम की ओर से ऐसे पिट शहर के शिमला पहाड़ी पार्क, पर्यावरण पार्क समेत चार जगह और इंदिरा कालोनी ट्यूबवेल के साथ बनवाए थे, जबकि दौलतपुर में डिस्पोजल के साथ खाली पड़ी 2 कनाल जमीन पर 11 लाख से गार्बेज क्लीनिक बनाने का प्रोजेक्ट अधर में ही लटका हुआ है।
हालात सामान्य होने पर काम में तेजी

अभी तक गार्बेज फ्री सिटी के लिए निगम 2 स्टार ही हासिल कर सका है, जबकि पिछले डेढ़ साल से निगम थ्री स्टार के लिए अप्लाई कर रही है। लॉकडाउन के बाद शहर को साफ-सुथरा का काम धीमी रफ्तार से चल रहा था। लॉकडाउन खुलने के बाद शहर को गार्बेज फ्री बनाने के लिए काम में तेजी लाई जा रही है। इसके लिए शहर के सभी 50 वार्डों में निगम की ओर से डोर-टू-डोर गार्बेज कलेक्शन का काम शुरू कर दिया गया है। जबकि, शहर के कई इलाकों में पिट बनाए गए हैं।

प्राइवेट स्कूलों को अवेयर कर खुद पिट तैयार करने के लिए करेंगे प्रोत्साहित : सुपरिंटेंडेंट

इस बारे में निगम के सुपरिंटेंडेंट इंद्रजीत सिंह ने बताया कि पिट बनाने के लिए सरकारी स्कूलों में सर्वे शुरू किया गया है। प्राइवेट स्कूलों को अवेयर कर उन्हें खुद पिट तैयार करने के लिए प्रोत्साहित किया जाएगा। इससे स्कूलों से निकलने वाले कूड़े को एक जगह पर इकट्ठा कर उससे खाद बनाई जाएगी। इससे बच्चों को अपने स्कूल को क्लीन रखने की भी ट्रेनिंग मिलेगी। वहीं, उन्होंने कहा कि शहर के लोगों को भी अपनी जिम्मेदारी समझते हुए शहर को साफ-सुथरा रखने में निगम की मदद करनी चाहिए।  

खबरें और भी हैं...