पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

कोरोना की होगी हार, बनिए समझदार:सिविल में एमडी एनेस्थेटिक न होने से लेवल-3 मरीजों का नहीं हो रहा था इलाज, सेहत विभाग ने 13 वेंटिलेटर प्राइवेट को दिए

पठानकोट9 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
  • गाइडलाइंस का पालन करें, प्रशासन और सेहत विभाग का साथ दें
  • लोगों की मांग- प्राइवेट अस्पतालों में लेवल-3 के मरीजों को वेंटिलेटर पर रखने का चार्ज फिक्स किया जाए}प्राइवेट अस्पतालों में लेवल-3 के मरीजों को वेंटिलेटर पर रखने का चार्ज फिक्स किया जाए

जिले के सिविल अस्पताल में एमडी एनेस्थेटिक न होने से कोरोना पाॅजिटिव लेवल-3 के मरीजों को भर्ती करने की सुविधा न होने से सरकार द्वारा सिविल अस्पताल में भेजे गए 24 वेंटिलेटरों में से 13 वेंटिलेटर काे सेहत विभाग ने 4 प्राइवेट अस्पताल को लोन पर्पज सौंप दिए हैं। सेहत अधिकारियों का कहना है कि जिन प्राइवेट अस्पतालों में लेवल-3 के मरीजों के इलाज की सुविधा है उन्हें वेंटिलेटर दिए गए हैं, ताकि गंभीर मरीजों को बचाया जा सके। उधर मरीजों के तीमारदार सवाल उठा रहे हैं कि सिविल अस्पताल द्वारा प्राइवेट अस्पतालों को कोविड मरीजों की सुविधा हेतु दिए गए वेंटिलेटर पर प्रतिदिन कितना पैसा वसूलेंगे या नहीं? इसके लिए वेंटिलेटर पर भर्ती होने वाले मरीजों को प्रतिदिन कितने पैसे देने हैं, इस संबंधी भी बताया जाए। बता दें कि सरकार ने 2020 में कोरोना के केसों के देखते हुए सिविल अस्पताल को 24 वेंटिलेटर उपलब्ध करवाए थे, जिसमें से 18 वेंटीलेटर इंस्टाल हैं।

एक्सरे मशीन खराब, ट्रामा सेंटर में भेजे जा रहे मरीज : सिविल अस्पताल में एमसीएच बिल्डिंग में बनाए गए आइसोलेशन वार्ड में कोरोना पाॅजिटिव गंभीर चल रहे मरीजों के एक्सरे नहीं हो पा रहे हैं। क्योंकि आइसोलेशन वार्ड में रखी एक्सरे पोटेवल मशीन नहीं चलाई जा रही और न ही आइसोलेशन वार्ड में सीआर सिस्टम है। जबकि कोरोना पॉजिटिव गंभीर मरीजों के एक्सरे कर उनकी बीमारी देखने के लिए बेहद जरूरी है। आइसोलेशन वार्ड में लेवल-2 के अन्य कोरोना पॉजिटिव मरीज भर्ती हैं, उन्हें दोपहर को ट्रामा सेंटर में बनाए्।

एक्सरे विभाग में भेजकर एक्सरे करवाए जा रहे हैं, जिससे कोरोना का ज्यादा संक्रमण

बढ़ने का खतरा है। आइसोलेशन वार्ड में भर्ती मरीजों के तीमारादारों ने मांग रखी है कि सेहत विभाग द्वारा आइसोलेशन वार्ड में पोटेवल मशीन को शुरू करवाकर बेड पर भर्ती मरीजों के रोजाना एक्सरे किए जाए, ताकि मरीजों की स्थिति का पता चल सके।

अब तक एक दिन में सबसे ज्यादा 11 की मौत, 347 पॉजिटिव

जिले में कोरोना पाॅजिटिव 11 लोगों ने इलाज के दौरान दम तोड़ा। जिससे जिले में कोरोना से मरने वालों का आंकड़ा 231 पहुंच गया है। कोरोना से मरने वाले 5 महिलाए और 5 पुरूष शामिल है। मरने वाले 54 वर्षीय व्यक्ति निवासी जुगियाल, 55 वर्षीय महिला निवासी सुजानपुर, 56 वर्षीय महिला निवासी सैली रोड, 70 वर्षीय व्यक्ति पठानकोट, 45 वर्षीय व्यक्ति निवासी नंगलभूर, 48 वर्षीय व्यक्ति निवासी धारकलां, 42 वर्षीय महिला निवासी अरूण नगर, 60 वर्षीय महिला निवासी सुजानपुर, 62 वर्षीय व्यक्ति निवासी सुजानपुर, 50 वर्षीय व्यक्ति निवासी लमीनी और 59 वर्षीय महिला निवासी ढांगू रोड के रहने वाले थे।

कोरोना की दूसरी लहर के 63 दिनों में 2981 लोग हो चुके हैं स्वस्थ

कोरोना के दूसरी लहर के 5244 पॉजिटिव मिले हैं जबकि 66 लोगों की मौत हो चुकी है और 2981 लोग स्वस्थ हो चुके हैं। एसएमओ डा.राकेश सरपाल ने बताया कि 2184 आरटीपीसीआर सैंपलों की आई रिपोर्ट में 256 लोग, रैपिड टेस्ट एंटीजन में 70, प्राइवेट लैब से 15 लोग और 6 लोग दूसरे जिलों के हैं।

लोगों की सुविधा के लिए हर संभव कोशिश

काेराेना की जानकारी के लिए स्थापित किया कंट्रोल रुम

कोरोनाकाल की दूसरी लहर को ध्यान में रखते हुए जिला प्रशासन द्वारा नई गाइडलाइन जारी की गई है। इस दौरान जिलाधीश संयम अग्रवाल ने कहा कि कोरोनाकाल दौरान लोगों की मुश्किलों को हल करने के लिए जिला प्रशासन द्वारा कंट्रोल रुम स्थापित किए गए हैं। इन टोल फ्री नम्बरों पर सपंर्क कर कोरोना से रिलेटेड हम हर प्रकार की जानकारी हासिल कर सकेंगे।

उन्होंने बताया कि यह सिविल कंट्रोल रुम जिला प्रबंधकीय कांप्लेक्स मलिकपुर में स्थापित किया गया जिसका टोल फ्री नम्बर जारी हुआ है यदि किसी भी तरह की कोई समस्या है तो इस पर संपर्क किया जा सकता है। इसके अलावा मेडिकल कंट्रोल रूम सिविल अस्पताल पठानकोट में स्थापित किया गया है। जिसका नम्बर- 1800-180-3360 है किसी भी प्रकार की मेडिकल सुविधा के लिए इस नम्बर पर संपर्क किया जा सकता है। उन्होंने लोगों से अपील की है कि सभी गाइडलाइन का पालन करें। िबना जरूरी काम के घर से बाहर न निकलें, ज्यादा-ज्यादा से घरों में रहें।

सिविल अस्पताल में लेवल-2 के मरीज बढ़े, 500 पीपीई किटें मिलीं

सिविल अस्पताल के आईसोलेशन वार्ड में लैवल-2 के 55 मरीज भर्ती है। जिनमें 50 मरीज आक्सीजन पर चल रहे है। सिविल के आईसोलेशन वार्ड में कोरोना पाजिटिव भर्ती गंभीर मरीजों की संख्या बढ़ने से 110 से अधिक आक्सीजन सिलेण्डर लग रहे है। सेहत कर्मियों की माने तो इससे पहले 30 से 40 आक्सीजन सिलेण्डरो की खपत हो रही थी। आक्सीजन की खपत ज्यादा बढ़ने पर सप्लायर द्वासरा सिविल अस्पताल में में तीन से चार बार गाड़ी भेजकर आक्सीजन सिलेण्डर मुहैया करवाए जा रहे है। वहीं राहत की खबर है कि सिविल अस्पताल में कोरोना पाजिटिव मरीजों के इलाज में इस्तेमाल होने वाली 500 फतेह किटे पहुंची है।

खबरें और भी हैं...

    आज का राशिफल

    मेष
    Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
    मेष|Aries

    पॉजिटिव - आज की स्थिति कुछ अनुकूल रहेगी। संतान से संबंधित कोई शुभ सूचना मिलने से मन प्रसन्न रहेगा। धार्मिक गतिविधियों में समय व्यतीत करने से मानसिक शांति भी बनी रहेगी। नेगेटिव- धन संबंधी किसी भी प्रक...

    और पढ़ें