रेमडेसिविर इंजेक्शन को लेकर बनी कमेटी:नोडल अफसर को बताना होगा, टीम मरीज की हालत देख उपलब्ध कराएगी टीका

पठानकोट6 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
  • प्राइवेट अस्पतालों में भर्ती लेवल 2 व 3 के मरीजों के लिए इंजेक्शन लेने को लगेंगे 2 से 3 घंटे

जिले के सिविल अस्पताल के आइसोलेशन वार्ड में लेवल-2 के 41, प्राइवेट अस्पतालों में 82 मरीज भर्ती हैं। सिविल में कोरोना पॉजिटिव लेवल-2 के गंभीर मरीजों को अॉक्सीजन सिच्युएशन को पूरा करने को रोजाना 20 और प्राइवेट अस्पतालों में 50 इंजेक्शनों की जरूरत है। लेकिन बुधवार को जिले के सेहत विभाग और प्राइवेट स्टॉकेज के पास नाम मात्र ही रेमडेसिविर इंजेक्शन उपलब्ध थे।

कोरोना के बीच रेमडेसिविर इंजेक्शनों की लगातार बढ़ रही डिमांड के बाद अब सेहत विभाग ने जिले के प्राइवेट अस्पतालों में भर्ती कोरोना पॉजिटिव लेवल-2 और 3 के गंभीर मरीजों की अॉक्सीजन सिच्युएशन को पूरा करने को इस्तेमाल में लाए जाने वाले रेमडेसिविर इंजेक्शन उपलब्ध करवाने के लिए एक कमेटी बनाई है। कमेटी में जिला नोडल इंचार्ज बबलीन कौर, एसएमओ डॉ.राकेश सरपाल और उसमें दो डॉक्टर मेडिसन स्पेशलिस्ट डॉ.अशोक ढिल्लों व डॉ.रोहित भारद्वाज को शामिल किया है। सबसे पहले प्राइवेट अस्पताल वाले पॉजिटिव लेवल-2 व 3 के मरीजों की हालत को देख इस्तेमाल में लाए जाने वाले रेमडेसिविर इंजेक्शन लेने को जिला नोडल इंचार्ज फूड एंड ड्रग एडमिनिस्ट्रेशन की जिला अधिकारी बबलीन कौर से संपर्क करेंगे। उसके बाद कमेटी में शामिल डॉ. डॉ. अशोक ढिल्लो और डॉ.रोहित भारद्वाज प्राइवेट अस्पताल से मरीज का हेल्थ ट्रीटमेंट रिकॉर्ड मंगवाकर चेक करेंगे कि रेमडेसिविर की जरूरत है या नहीं। मरीज को इंजेक्शन की जरूरत है तो वह तुरंत एसएमओ डॉ.राकेश सरपाल को बताएंगे और एसएमओ की ओर से जिला नोडल इंचार्ज बबलीन कौर को बताएंगे।

जिला नोडल इंचार्ज प्राइवेट अस्पताल प्रबंधन को बताएगी कि वह किस मेडिकल स्टोर के पास इंजेक्शन स्टॉकेज में है, वहां से जाकर ले लें। सेहत विभाग के अधिकारियों का दावा है कि इस सारे प्रोसेस को पूरा करने पर 2 से 3 घंटे के अंदर ही गंभीर पॉजिटिव को रेमडेसिविर इंजेक्शन उपलब्ध हो जाएगा।

सिविल के आइसोलेशन वार्ड में रेमडेसिविर इंजेक्शन खत्म, वीरवार के लिए 25 इंजेक्शन की डिमांड भेजी

बुधवार को सिविल अस्पताल के आइसोलेशन वार्ड में रेमडेसिविर इंजेक्शन खत्म हो गए। स्टाफ की मानें तो रोजाना पॉजिटिव लेवल-2 के मरीजों की हालत को देखते हुए 15 से 20 रेमडेसिविर इंजेक्शन लगाए जाते हैं। बुधवार को स्टाफ ने वीरवार के लिए 25 रेमडेसिविर इंजेक्शन की डिमांड बनाकर अधिकारियों को भेजी है। बता दें कि सिविल अस्पताल के स्टोर में रेमडेसिविर इंजेक्शन भी न मात्र उपलब्ध हैं। सेहत अधिकारियों का कहना है कि चंडीगढ़ में इंजेक्शन की डिमांड भेजी है।

खबरें और भी हैं...