पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

सख्ती:अब पशुओं से हादसा हुआ तो मालिक को देना पड़ेगा 1 लाख मुआवजा, कुत्ते के काटने पर पीड़ित को मिलेंगे ‌2 हजार रुपए

पठानकोटएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक
  • लोकल बॉडीज विभाग ने पशुओं के रजिस्ट्रेशन को जारी किया मॉडल पंजाब म्यूनिसिपल रजिस्ट्रेशन बायलॉज

पशुओं की वजह से होने वाले हादसों पर मालिक को अब एक लाख रुपए जुर्माना देना होगा। इसको लेकर लोकल बॉडी विभाग ने मॉडल पंजाब म्युनिसिपल (रजिस्ट्रेशन प्रॉपर कंट्रोल ऑफ स्ट्रे एनिमल एंड कंपनसेशन टू द विकटम ऑफ एनिमल अटैक) बायलॉज 2020 के तहत प्रदेश की सभी नगर निकायों में पशुओं की रजिस्ट्रेशन जरूरी कर दी है और उसे हर साल रिन्यू भी कराना होगा। ऐसा न करने पर 10 गुना जुर्माना देना होगा।

सड़कों पर पशुओं की वजह से मौत पर मालिक को 1 लाख मुआवजा देने का प्रावधान भी किया है, जबकि घायल होने की सूरत में मुआवजा डॉक्टरी जांच के आधार पर तय किया जाएगा। वहीं, कुत्ते के काटने पर 1-2 हजार रुपए मुआवजा तय किया गया है जोकि संबंधित निकाय पीड़ित को देगा। इसके अनुसार प्रत्येक जानवर का मालिक हर वर्ष 1 अप्रैल रजिस्ट्रेशन करवाना जरूरी होगा। ऐसा नहीं करने पर उसे 10 गुना जुर्माना लगाया जाएगा।

निर्देश : पशुओं के रोगमुक्त होने का भी देना होगा प्रमाण पत्र

रजिस्ट्रेशन के समय आवेदन के साथ म्युनिसिपल कॉरपोरेशन के सामने वेटरनरी डॉक्टर से एक प्रमाण पत्र पत्र भी देना होगा, जिसमें स्पष्ट किया जाएगा कि पशु किसी भी संक्रामक रोगों से मुक्त है। इस उद्देश्य के लिए आवासीय व व्यावसायिक परिसर में रखा जाना चाहिए। रजिस्ट्रेशन पर पशु मालिक को लाइसेंस अथारिटी द्वारा दिए गए एक टोकन के साथ या स्थायी पहचान के किसी अन्य उपयुक्त तरीके से पशु को टैग किया जाएगा। इसके साथ ही पशु का नंबर निगम रिकार्ड में दर्ज भी किया जाएगा।

पशु रखने को ठहराया जा सकता है अयोग्य

बायलॉज के तहत पशु के मालिक को दोषी ठहराने के आरोप में पशु क्रूरता निवारण अधिनियम 1960 (59) के तहत अदालत व्यक्ति को ऐसे जानवर रखने से रोक सकती है और ऐसी अवधि के लिए पशु लाइसेंस रखने या प्राप्त करने के लिए अयोग्य ठहराया जा सकता है। ऐसे मालिक को जारी किया गया लाइसेंस निलंबित माना जाएगा और जब तक अयोग्यता जारी रहती है।

पशुओं का टैगिंग कराना होगा

निकाय की ओर से पशु की टैगिंग की जाएगी। टैगिंग के बिना कोई भी पशु सड़कों या मालिक के घर के बाहर पाए जाता तो निगम चालान कर सकता है। उसे जब्त कर कैटल पाउंड में रखेगा और उसे कैटल पाउंड में रखने का खर्च भी मालिक से वसूल किया जाएगा।

ऑब्जेक्शन मांगे गए हैं

निगम के चीफ सेनेटरी इंस्पेक्टर अजय कुमार ने कहा बायलॉज पर ऑब्जेक्शन मांगे गए हैं और नोटिफिकेशन जारी होने पर शहरों में प्रभावी होंगे। वहीं, रजिस्ट्रेशन का समय खत्म होने पर 30 दिन में रिन्यू कराना होगा।

आज का राशिफल

मेष
Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
मेष|Aries

पॉजिटिव- रचनात्मक तथा धार्मिक क्रियाकलापों के प्रति रुझान रहेगा। किसी मित्र की मुसीबत के समय में आप उसका सहयोग करेंगे, जिससे आपको आत्मिक खुशी प्राप्त होगी। चुनौतियों को स्वीकार करना आपके लिए उन्नति के...

और पढ़ें