पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

इंजीनियरों को बैठक:पंजाब सरकार ने डिप्लोमा इंजीनियरों को बैठक करने के लिए कल बुलाया

पठानकोट6 दिन पहले
  • कॉपी लिंक

कौंसल आफ डिप्लोमा इंजीनियर्स पंजाब द्वारा छठे पे-कमीशन की त्रुटियों को दूर करने संबंधी छेड़े गए संघर्ष के बाद अब पंजाब सरकार ने इनकी मांगों पर विचार करने के लिए डिप्लोमा इंजीनियर्स को 14 सितम्बर को भेंट करने का न्यौता दिया है। इस संदर्भ में कौंसल के चेयरमैन सुखमिंदर सिंह लवली, महासचिव दविंद्र सिंह सेखों, वित्त सचिव नरिंदर कुमार, कर्मजीत सिंह बीहला, भूपेंद्र सोमल, कर्मजीत सिंह सिद्धू, कर्मजीत मान, सीवरेज बोर्ड से शरणजीत सिंह, एनपी धवन, प्रवेश कुमार, ट्यूबवेल कार्पोरेशन के रमेश कटारिया, गुरमेल सिंह, सुमित कुमार, नरेश शर्मा ने बताया कि कौंसल द्वारा पिछले काफी लंबे समय से अपनी मांगों को लेकर संघर्ष किया जा रहा है, लेकिन सरकार के अड़ियल रवैये के कारण हमें मजबूर होकर 8 सितंबर को पटियाला में रोष रैली करनी पड़ी। इंजीनियर वर्ग में पनपे रोष को देखते हुए अब पंजाब सरकार ने 14 सितंबर को मीटिंग का न्योता

दिया है। उन्होंने कहा कि मीटिंग मोहाली के जंगलात मंत्री साधु सिंह धर्मसोत के दफ्तर में कैबिनेट सब कमेटी के साथ सुबह साढ़े 11 बजे रखी गई है। उन्होंने हैरानी जताते कहा कि बडे़ दुख की बात है कि एलटीए के तहत हर महीने मिलता 30 लीटर पेट्रोल भी पे-कमीशन ने खत्म कर दिया है। उन्होंने चेतावनी दी यदि इस मीटिंग में कोई सार्थक हल न निकला तो संघर्ष और तेज किया जाएगा। इस दौरान उन्होंने मांग उठाई है कि वर्ष 2011 का पे स्केल बहाल किया जाए और 3.01 गुणांक के हिसाब से स्केल तय किया जाए, एलटीए के तहत मिलने वाला पेट्रोल 30 लीटर से बढ़ाकर 80 लीटर किया जाए। 2004 के बाद भर्ती हुए इंजीनियरों के ऊपर पुरानी पेंशन स्कीम लागू की जाए। पदोन्नति कोटा 50 फीसदी से बढ़ाकर 75 फीसदी किया जाए।

खबरें और भी हैं...