हफ्ते बाद पहुंची 8 हजार डोज, 5967 को लगी:वेटरनरी अस्पताल समेत कैंपों में साइट स्लो, कोविशील्ड की वैक्सीन लगवाने को दो घंटे तक लाइनों में लगे रहे लोग

पठानकोट3 महीने पहले
  • कॉपी लिंक

शनिवार को जिले में एक सप्ताह बाद कोविशील्ड वैक्सीन की 8 हजार डोज पठानकोट पहुंची। जिसके चलते कोविशील्ड वैक्सीन की पहली और दूसरी डोज लगवाने के लिए लोग वेटरनरी अस्पताल, राम भवन और कबाड़ धर्मशाला में लगे कैंपो में पहुंचे। कैंपों में दिनभर वैक्सीन लगवाने वाले लोगों की लंबी-लंबी लाइन लगी रही।

वेटरनरी अस्पताल में बने वैक्सीनेशन सेंटर और कैंपो में साइट स्लो होने से लोगों को कोविशील्ड वैक्सीन लगवाने के लिए 2-2 घंटे लाइनों में लगकर इंतजार करना पड़ा। वहीं वेटरनरी अस्पताल में जहां कोविशील्ड वैक्सीन लग रही थी, वहां पर एक ही स्टाफ मेंबर होने से लोगों को काफी परेशानी झेलनी पड़ी।

लोगों ने कैंपों में स्टाफ बढ़ाने की मांग रखी है। वहीं राधा स्वामी भवन औप वेटरनरी में लगे कैंपो में लोगों को को-वैक्सीन की डोज भी लगाई गई। शनिवार को जिले में सिटी और रूरल में 5967 लोगों को वैक्सीन लगी। जिनमें 18 से 44 वर्ष के 2789 लोगों ने पहली और 1004 ने दूसरी, 45 से 60 वर्ष के बीच वाले 349 ने पहली और 1667 दूसरी डोज, 60 प्लस वालों में 40 लोगों ने पहली और 118 ने दूसरी डोज लगाई। बता दें कि जिले में अब तक 3 लाख 22 हजार 200 लोग वैक्सीन लगवा चुके है।

10:30 बजे से लाइन में खड़ा हूं, लेकिन साइट स्लो है
खानपुर निवासी अशोक कुमार ने बताया कि कोविशील्ड वैक्सीन की दूसरी डोज लगवाने के लिए सवेरे साढ़े 10 बजे से लाइन में खड़ा हूं, लेकिन साइट स्लो और एक कर्मी की डयूटी होने की बात कही जा रही है। जिससे लाइनों में लोग परेशान हो रहे है। उन्होंने सेंटरो पर स्टाफ बढ़ाने की मांग रखी है।

दूसरी डोज के लिए दो घंटे से लाइन में लगा हूं : दर्शन सिंह
माडल टाउन निवासी दर्शन सिंह ने बताया कि पहले दूसरी डोज लगवाने के लिए 5 दिनों से सेंटर के चक्कर काट रहा था। अब जब वैक्सीन आई तो वेटरनरी अस्पताल में लगे कैंप में दो घंटे से लाइन में लगकर अपनी बारी का इंतजार कर रहा हूं।

पोर्टल पर रजिस्ट्रेशन का अलग काउंटर बने : सतीश
वैक्सीन लगवाने पहुंचे बोलिया चौक निवासी सतीश कुमार ने बताया कि कैंपो में एक ही कमरे में पोर्टल पर रजिस्ट्रेशन और वैक्सीन लगाई जा रही है। जिससे लंबी लाइनें लग रही है। इसके लिए पोर्टल पर रजिस्ट्रेशन करवाने को अलग से काउंटर बनाया जाए, ताकि लोग आराम से वैक्सीन लगवा सकें।

खबरें और भी हैं...