पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

स्कूल शिक्षा:प्राइमरी में 16 और सेकेंडरी में 11.45 फीसदी बढ़े स्टूडेंट, एडमिशन बढ़कर 60 हजार 903 पहुंची

पठानकोटएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक
  • डीईओ बोले- 7293 विद्यार्थी निजी स्कूलों से हट कर आए

कोरोना में कई लोगों की नौकरी चली गई और घर का खर्च जैसे तैसे चलाने के बाद बच्चों की एडमिशन की फिक्र भी सता रही है। इसका फायदा सरकारी स्कूलों को मिला है। एडमिशन और फीस कम होने के चलते जिले के सरकारी स्कूलों में 7293 विद्यार्थियों की ज्यादा एडमिशन हुई है। इसके चलते जिले 49 प्राइमरी और 15 सेकेंडरी स्कूलों में इस सेशन के दौरान 25 प्रतिशत से ज्यादा एडमिशन हुआ है। इससे विद्यार्थियों की संख्या 53 हजार 610 से बढ़कर 60 हजार 903 हो गई है।

सचिव स्कूल शिक्षा कृष्ण कुमार के नेतृत्व में मीटिंग में जिला पठानकोट के शिक्षा आधिकारियों ने उक्त रिपोर्ट पेश की है। जिले के सरकारी स्कूलों में 7293 बच्चे निजी स्कूलों से हट कर आए हैं। जिला शिक्षा अफसर (एलिमेंट्री) बलदेव राज और उपजिला शिक्षा अफसर एलिमेंट्री रमेश लाल ठाकुर ने बताया कि जिले के 376 प्राइमरी स्कूलों में वर्तमान सेशन के दौरान 3540 विद्यार्थी निजी स्कूलों को छोड़कर आए हैं। उन्होंने बताया कि सरकारी प्राइमरी स्कूलों में 20 हजार 835 से बढ़कर 24 हजार 375 बच्चे हो गए हैं, इस तरह दाखिले में 16 प्रतिशत वृद्धि हुई है।

इसी तरह जिला शिक्षा अफसर (सेकेंडरी) जसवंत सिंह और उपजिला शिक्षा अफसर सेकेंडरी राजेश्वर सलारिया ने बताया कि जिले के 154 सेकेंडरी स्कूलों में 3753 विद्यार्थी निजी स्कूलों को छोड़कर दाख़िल हुए हैं। सेकेंडरी स्कूलों में 32 हजार 775 से बढ़कर 36 हजार 528 विद्यार्थी हो गए हैं। इस तरह दाखिले में 11.45 प्रतिशत वृद्धि हुई है। सरकारी स्कूलों में सुविधाएं बढ़ने और मानक शिक्षा से लोगों का बहुत विश्वास बढ़ा है और नतीजे के तौर पर बच्चों की संख्या बढ़ी है। इस अवसर पर जिला कोआर्डिनेटर एमआईएस मुनीष गुप्ता, जिला कोआर्डिनेटर मीडिया सेल बलकार अत्री उपस्थित थे।

खबरें और भी हैं...