राष्ट्रीय कैंसर चेतना दिवस:कस्बा राहों के कम्युनिटी हेल्थ केंद्र में मनाया राष्ट्रीय कैंसर चेतना दिवस, कैंसर का प्रारंभिक चरण में पता चलने पर इलाज संभव- डॉ. गीतांजलि सिंह

राहों24 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
  • इस मौके पर डॉ. गुरपिंदर सिंह, डॉ. भुवनीश शारदा, ऊषा किरन, राजविंदर कौर, हरजिंदर सिंह, कमलजीत कौर मौजूद रहे

कस्बा राहों के कम्युनिटी हेल्थ केंद्र में शनिवार को राष्ट्रीय कैंसर चेतना दिवस का आयोजन करवाया गया। मुजफ्फरपुर सेहत केंद्र की एसएमओ डॉ. गीतांजलि सिंह की अगुवाई में करवाए कार्यक्रम में लोगों को लोगों को कैंसर के लक्षण, प्रभाव और बचाव के तरीकों की जानकारियां दी गईं। डॉ. सिंह ने बताया कि जल्द पहचान होने पर इलाज से कैंसर ठीक हो सकता है और अब कैंसर की बीमारी लाइलाज नहीं है। अगर कैंसर का प्रारंभिक अवस्था में पता चल जाए तो 75 फीसदी केसों का इलाज आम बीमारी की तरह संभव हो सकता है। डॉ. सिंह के अनुसार कैंसर होने में दूषित पानी, दूषित हवा, कीड़ेमार जहरीली दवाओं का अधिक प्रयोग करने, अधिक फास्ट फूड, तला हुआ भोजन खाने की गलत आदतें शामिल हैं।

अगर व्यक्ति तंबाकू का सेवन करते हैं तो उन्हें मुंह का कैंसर हो सकता है और जो व्यक्ति शराब पीते हैं उन्हें जिगर का कैंसर होने की संभावना अधिक होती है। उन्होंने बताया कि कैंसर की मुख्य किस्मों में मुंह, नाक, कान, गले, हडि्डयों, पेट की आंतड़ियों, खून तथा महिलाओं की छाती का कैंसर आदि शामिल हैं। डा. सिंह ने कहा कि हमें नशे से परहेज करना चाहिए और अगर कोई जख्म ठीक नहीं होता हो, भूख कम लगती हो, बिना वजह भार कम होता है या हमेशा कब्ज रहती है तो तुरंत अपना बाडी चैकअप करवाना चाहिए। इस दौरान ब्लाक एजूकेटर मनिंदर सिंह ने कहा कि महिलाओं में ब्रेस्ट कैंसर आम बात है, जिसका रेगुलर टेस्टों से पता चल सकता है। अगर छाती का रंग बदले या उसमें गांठें महसूस हों तो ब्रेस्ट कैंसर हो सकता है। उन्होंने कहा कि जिनके घरों में पहले मां-बाप या दादा-दादी को कैंसर हो चुका हो, उन्हें आम लोगों के अधिक सावधान रहने की जरूरत है। इस मौके पर डॉ. गुरपिंदर सिंह, डॉ. भुवनीश शारदा, ऊषा किरन, राजविंदर कौर, हरजिंदर सिंह, कमलजीत कौर मौजूद रहे।

खबरें और भी हैं...