पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

कोई तो लिफ्ट करा दे:डुमेवाल अनाज मंडी में 3000 क्विंटल धान खुले में पड़ा, 4000 बोरियों की लिफ्टिंग नहीं

नूरपुरबेदीएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक

सरकार तथा जिला प्रशासन की तरफ से भले ही धान की लिफ्टिंग तथा बारदाने की समस्या सहित किसानों को पेमेंट को लेकर बड़े-बड़े दावे किए जा रहे हों लेकिन मंडियों में हालात विपरीत नजर आ रहे हैं। आलम यह है कि खुले आसमान के नीचे हजारों क्विंटल धान बारदाने के इंतजार में है तथा हजारों क्विंटल धान लिफ्टिंग के इंतजार में है। ऐसे में अगर बारिश आ जाए तो फसल के भीगने के लिए कौन जिम्मेदार होगा?

आपको बता दें कि नूरपुर बेदी क्षेत्र की तमाम मंडियां बिना छत के हैं। अकेले डुमेवाल अनाज मंडी की बात की जाए तो यहां 3000 क्विंटल धान खुले आसमान में बारदाने तथा 4000 क्विंटल के आसपास धान की बोरियां लिफ्टिंग के इंतजार में हैं। ꫰ आज जिला रूपनगर की डुमेवाल अनाज मंडी में विधायक अमरजीत सिंह संदोआ ने धान की लिफ्टिंग तथा बारदाने की कमी को लेकर मंडी में किसानों के हक में अफसरशाही को लताड़ा। उन्होंने कहा कि अगर यहां तुरंत लिफ्टिंग न हुई या बारदाना न आया तो वह धरना प्रदर्शन से पीछे नहीं हटेंगे। विधायक संदोआ ने कहा कि डुमेवाल की अनाज मंडी मार्कफेड के अंदर है। यहां पर एक शेलर मालिक हर साल लोगों तथा किसानों को परेशान करता है वह धान की लिफ्टिंग नहीं करता इसलिए इस शेलर मालिक का प्रशासन लाइसेंस रद्द करे।

धान की लिफ्टिंग न होने पर हफ्ता पहले किसानों ने दिया था धरना, आश्वासन पर भी कोई हल नहीं

मार्केट कमेटी रोपड़ से मिली जानकारी के अनुसार वर्ष 2019 में जिले की 43 मंडियों में पहुंची धान की फसल की आमद 23 लाख 21 हजार 230 क्विंटल हुई थी। इस वर्ष 25 अक्टूबर तक जिले की इन मंडियों में 18 लाख 48 हजार 390 क्विंटल धान की फसल आ चुकी है और सीजन चल रहा है। अनुमान लगाया जा रहा है कि इस वर्ष जिले में 7 हजार हैकटेयर के करीब धान की फसल को कम किया गया है। वर्ष 2019 के मुकाबले इस वर्ष अनुमान लगाया जा रहा है कि पिछले वर्ष के मुकाबले धान पहुंचने की संभावना है।

बता दें कि जिले में खरीद कर रही एजेंसी पनग्रेन ने 6 लाख 64 हजार 070 क्विंटल, एफसीआई ने 13 हजार 460, मार्कफैड ने 5 लाख 30 हजार 270 क्विंटल, पनसप ने 4 लाख 59 हजार 220 क्विंटल तथा वेयरहाउस ने 1 लाख 81 हजार 370 क्विंटल धान की खरीद की है। खरीद एजेंसीयां 21 अक्टूबर तक की पेमेंट खरीददारों के खाते में डाल चुकी हैं। बात करें रोपड़ मंडी की तो यहां पर पनग्रेन ने 65 हजार 300 क्विंटल, एफसीआई ने 12 हजार 30 क्विंटल, मार्कफैड ने 89 हजार 240 क्विंटल, पनसप ने 80 हजार 810 क्विंटल धान की खरीद कर चुका है।

अधिकारियों ने 20 अक्टूबर को समाधान का दिया था आश्वासन

रोपड़ जिले के ब्लॉक नूरपुरबेदी की मंडियों में बारदाने की समस्या को जिला प्रशासन द्वारा 20 अक्टूबर को लगाए धरने को शाम तक हल करवाने के दिए आश्वासन को चाहे आज एक सप्ताह बीत चुका है पर समस्या हल नहीं हो पाई। आपको बता दें कि चाहे सरकार द्वारा किसानों को धान की फसल की अदायगी 24 घंटे में करने व बारदाना तथा मंडियों में सैनिटाइजर समेत जरूरी प्रबंधों के दावे किए जा रहे हैं लेकिन जमीनी स्तर पर हालात इसके विपरीत है।

आज का राशिफल

मेष
Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
मेष|Aries

पॉजिटिव- आज व्यक्तिगत तथा पारिवारिक गतिविधियों के प्रति ज्यादा ध्यान केंद्रित रहेगा। इस समय ग्रह स्थितियां आपके लिए बेहतरीन परिस्थितियां बना रही हैं। आपको अपनी प्रतिभा व योग्यता को साबित करने का अवसर ...

और पढ़ें