पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

आंधी आई, तारें जमीं पर:मोरिंडा में हाइटेंशन बिजली के 6 टावर गिरे, शहर सहित 8 गांवों की बिजली हुई बंद, रिपेयर जारी

मोरिंडा/रोपड़ /चमकौर साहिब25 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
  • 30 हजार के करीब आबादी रही अंधेरे में, रविवार देर शाम अस्थायी तौर पर सप्लाई देकर चलाई गई बिजली

शनिवार रात चली आंधी से मोरिंडा में बिजली के हाइटेंशन तारों वाले टावर गिर गए और चमकौर साहिब में भी बिजली के पोल गिरने से बिजली बंद हो गई। बिजली विभाग के कर्मचारी रिपेयर में लगे हुए हैं। कई जगह अगले दिन भी पूरी तरह बिजली चालू नहीं हो पई। मोरिंडा में 6 हाइटेंशन टावर टूट कर गिरे हैं। इसके चलते मोरिंडा शहर समेत आसपास के 8 गांवों की बिजली पूरी रात बंद रही। रविवार शाम तक शहर की 90 फीसदी बिजली ही चल पाई। मोरिंडा में हाइटेंशन बिजली का पोल मकान पर भी गिर गया। आंधी की वजह से कई दुकानों के शेड भी उड़ गए।

बेकरी का काम करने वाले संजीव कुमार ने बताया कि उनकी छत पर लगाए सोलर सिस्टम के सभी पेनल आंधी में रात को उड़कर साथ के लोगों की छतों पर गिर गए। गनीमत रही इससे कोई चोटिल नहीं हुआ। उनका लगभग डेढ़ लाख का नुकसान हुआ है। बता दें कि गत रात करीब रात 10 बजे आंधी के बाद हल्की बूंदाबांदी से मौसम में कुछ ठंडक भी आई है।

इसके बाद रविवार को दिन में हल्की धूप रही। मौसम विभाग के अनुसार शनिवार रात 8 एमएम बारिश दर्ज की गई और रविवार को अधिकतम तापमान 36 डिग्री व न्यूनतम 19 डिग्री सेल्सियस रहा। वहीं सोमवार व मंगलवार को अधिकतम तापमान 38 डिग्री व न्यूनतम तापमान 21 डिग्री सेल्सियस रहने और बारिश की संभावना बनी रहेगी।

चमकौर साहिब में भी बिजली रही बंद
इधर, चमकौर साहिब में आंधी के कारण पेड़ टूट कर सड़क के बीच गिर गए और बिजली की तारें टूट गई। शहर के एक हिस्से की बिजली रात भर बंद रही। वार्ड नंबर 13 रविवार दोपहर का 1 बजे तक सप्लाई शुरू नहीं हुई थी। एसडीओ समीर भारती ने बताया कि विभाग के कर्मचारी बिजली की तारों से पेड़ों को काटकर हटा रहे हैं और जल्द ही सप्लाई शुरू हो जाएगी।

रिपेयर के लिए टीम बुलाई : एसडीओ
एसडीओ मोरिंडा सुरजीत सिंह ने बताया कि गांवों में पेड़ टूटकर बिजली की तारों पर गिर गए। कई हाइटेंशन टावर भी टूट गए हैं। गांव मुंडियां, शुगर मिल रोड, चतामली, रतनगढ़, बढवाली, रंगीया, ढोलण माजरा, दातारपुर, बंगीया, मड़ोली की बिजली बंद हो गई। इनकी मरम्मत जारी है। टावर की मरम्मत के लिए टीम बुलाई गई है। बिजली अभी अस्थाई तौर पर सप्लाई देकर चलाई जाएगी।

खबरें और भी हैं...