विरोध:एडिड स्कूलों के अध्यापक और पेंशनर कल करेंगे सीएम की कोठी का घेराव

रोपड़2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
  • कहा- पहली बार एडिड स्कूलों में शिक्षकों को पे कमीशन नहीं दिया गया

एडिड स्कूलों के अध्यापक मुख्यमंत्री की तरफ से उनकी मांगों को न माने जाने कारण उनकी मोरिंडा कोठी का 9 दिसंबर को घेराव करेंगे। यूनियन के राज्य अध्यक्ष एनएन सैनी, राज्य सचिव अश्वनी शर्मा व पेंशनर एसोसिएशन के राज्य अध्यक्ष गुरचरन सिंह चाहल ने बताया कि अब तक जितने भी पे-कमीशन लागू किए गए उनमें पंजाब के सरकारी सहायता प्राप्त स्कूलों के अध्यापकों और अन्य कर्मचारियों पर भी सरकारी अध्यापकों की तरह पे-कमीशन लागू किए गए हैं लेकिन पंजाब के मुख्यमंत्री चरणजीत सिंह चन्नी अपनी सरकार में छठे पे-कमीशन की सिफारिशों को एडिड स्कूलों के अध्यापकों और अन्य कर्मचारियों पर लागू करने का पत्र जारी नहीं कर रहे, जिसके चलते अब एडिड स्कूलों के अध्यापक और पेंशनर 9 दिसंबर को मुख्यमंत्री की मोरिंडा कोठी का घेराव करेंगे।

जिला अध्यक्ष अमरजीत सिंह भुल्लर व प्रेस सचिव हरदीप सिंह ने कहा कि पंजाब सरकार एडिड स्कूलों के साथ सौतेली मां वाला सलूक कर रही है। स्कूलों में 70 फीसदी असामियां खाली पड़ी हैं। जिसके चलते यूनियन एडिड स्कूलों की असामियों पर काम करते स्टाफ को सरकारी स्कूलों में शिफट करने की मांग कर रही है।

इस मौके जिला सचिव रणजीत सिंह आनंदपुर साहिब, ब्लॉक अध्यक्ष सुरिंदर कुमार, प्रिं. नवदीप कुमार, वरिंदर कुमार, प्रिं. सतीश कुमार, प्रिंसिपल हरदीप सिंह ढींडसा, प्रिंसिपल सुखपाल कौर, अनु बाला, शिवानी, हरमनप्रीत सिंह काहलों, प्रेस सचिव रणबीर सिंह, उमेश कुमारी, प्रिं. भुपेश कुमारी, रवि कुमार, प्रिं. जसवीर कौर, मुख्य अध्यापिका रेनू बाला आदि मौजूद थे।

खबरें और भी हैं...