जागरूकता पोस्टर:जिला नवजन्मे बच्चों में 100 प्रतिशत मां के दूध की दर को सुनिश्चित करने की राह पर : सिविल सर्जन

रोपड़2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
  • मां का दूध बच्चे के लिए कुदरती खुराक जागरूकता पोस्टर किया रिलीज

डायरेक्टर सेहत सेवाएं (परिवार भलाई) पंजाब डॉ. अंदेश कंग के निर्देशों व सिविल सर्जन रोपड़ डॉ. परमिंदर कुमार की अगुवाई में पूरे जिले में विश्व मां का दूध बच्चें के लिए कुदरती खुराक (स्तनपान) सप्ताह मनाया गया। जिसके संबंध में एक जागरूकता पोस्टर रिलीज किया गया। इस मौके बताया कि विश्व स्तनपान सप्ताह एक विश्व व्यापी मुहिम के रूप में मनाया जाता है ताकि जो नवजन्मे बच्चों को मां का दूध पिलाने की जल्द शुरुआत की जा सके।

इस साल विश्व स्तनपान सप्ताह का विश्व “स्तनपान” सुरक्षित करों हमारी साझी जिम्मेदारी है। उन्होंने कहा कि हमारा उद्देश्य स्तनपान की दर को 100 प्रतिशत पर लेकर जाना है। इस संबंधी सेहत संस्था के स्टाफ ने गर्भवती को डिलीवरी के उपरांत व नई बनी मां को नवजन्मे बच्चे को अपना दूध पिलाने के लिए जागरूक किया।

इस मौके पर जिला समूह शिक्षा नव सूचना अफसर संतोष कुमारी ने मां का दूध पिलाने की महत्ता के बारे में बताते हुए कहा कि जन्म के पहले 6 महीने केवल मां का दूध पिलाना और 2 साल या इससे ज्यादा उम्र तक और खुराक के साथ मां के दूध को जारी रखने के साथ नवजन्मे बच्चों व मां को बहुत लाभ होता है। इस मौके पर सहायक सिविल सर्जन डॉ. अंजू, जिला सेहत अफसर डॉ. हरमिंदर सिंह, डिप्टी मास मीडिया अफसर गुरदीप सिंह व राज रानी, स्टेनों हरजिंदर सिंह, जिला बीसीसी कोआर्डिनेटर सुखजीत कंबोज व पीएनडीटी कोआर्डिनेटर रमनदीप सिंह मौजूद थे।

खबरें और भी हैं...