बढ़ा कोरोना का रिकवरी रेट:ब्लैक फंगस से जिले में पहली मौत, दिमाग तक पहुंचा संक्रमण, फेफड़े हो गए थे खराब

रोपड़5 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
रविवार को वीकेंड लॉकडाउन पर रोपड़ में बाजार बंद रहे। अगर सभी सरकार की हिदायतों का पालन करें तो जल्दी कोरोना से निजात मिल सकती है। - Dainik Bhaskar
रविवार को वीकेंड लॉकडाउन पर रोपड़ में बाजार बंद रहे। अगर सभी सरकार की हिदायतों का पालन करें तो जल्दी कोरोना से निजात मिल सकती है।
  • पीजीआई किया था रेफर, वहां डॉक्टर्स ने सीवियर सर्जरी को कहा; लेकिन परिवार ले आया था वापस
  • जिले में बढ़ा कोरोना का रिकवरी रेट, नए मरीजों के मुकाबले दोगुना हो रहे ठीक

गत दिन रोपड़ में ब्लैक फंगस से पीड़ित एक 70 वर्षीय मरीज पाया गया था, जिसकी रविवार को सिविल अस्पताल रोपड़ में मौत हो गई। मरीज को पीजीआई रेफर किया गया था लेकिन मरीज के फेफड़े खराब हो चुके थे जिसके चलते परिवार ने उसे रोपड़ में दाखिल करवा दिया था।

इस संबंधी सीएमओ डॉ. दविंदर कुमार ढांडा ने बताया कि उक्त 70 वर्षीय बुजुर्ग की 23 मई को कोरोना रिपोर्ट कोरोना पॉजिटिव आ गई थी। उसका इलाज सिविल अस्पताल रोपड़ में चल रहा था। 3 दिन पहले मरीज को अचानक नाक बंद होने और आंखों में सूजन नजर आई। इसके बाद उसे पीजीआई चंडीगढ़ रेफर कर दिया।

जहां पीजीआई में डॉक्टरों द्वारा मरीज के सभी टेस्ट किए गए। उसमें ब्लैक फंगस के बारे में पता चला। डॉक्टरों ने बताया कि मरीज के फेफड़े खराब हो चुके है और ब्लैक फंगस उनके दिमाग तक फैल चुका है, जिसके चलते मरीज की काफी सीवियर सर्जरी करनी पड़ेगी।

लेकिन पारिवारिक सदस्यों ने सर्जरी करने से मना कर दिया और पीजीआई से मरीज की छुट्टी करवाकर उसे वापस घर लाने का बंदोबस्त किया। इसके बाद मरीज को सिविल अस्पताल रोपड़ में दाखिल करके इलाज किया जा रहा था लेकिन आज सुबह 5 बजे मरीज की मौत हो गई।

रविवार को कोरोना से 2 की मौत, 47 नए केस मिले, 107 मरीज ठीक हुए

वहीं, रविवार को जिले में कोरोना से 2 लोगों की मौत हो गई, जिनमें 78 वर्षीय व्यक्ति निवासी गांव ख्वासपुरा और 73 वर्षीय व्यक्ति निवासी गांव महीयां शामिल हैं। रोपड़ में अब तक कोरोना से 380 लोगों की जान जा चुकी है।

वहीं, रविवार को 47 नए पॉजिटिव मामले सामने आए हैं और 107 लोग ठीक हुए हैं। जिले में अब तक 12505 लोग संक्रमित हो चुके हैं, इनमें 11741 ठीक हो चुके हैं और 384 एक्टिव हैं। रविवार को पॉजिटिव मिले 47 लोगों में रोपड़ के 21, नंगल के 10, आनंदपुर साहिब के 7, चमकौर साहिब के 7, मोरिंडा के 2 लोग शामिल हैं। इसके साथ ही सेहत विभाग ने 785 लोगों के सैंपल टेस्ट के लिए भेजे हैं।

वहीं, आंकड़ों की तरफ देखें तो जिले में कोरोना का रिकवरी रेट बढ़ गया है। जून महीने में अभी तक 6 दिन में 277 केस कोरोना पॉजिटिव पाए गए हैं जबकि 599 लोग कोरोना मुक्त हुए हैं और 14 लोगों की मौत हुई है। इन 6 दिनों में नए केसों के मुकाबले दोगुना लोग ठीक हुए हैं।

इस समय जिले में कोरोना के 384 एक्टिव केस हैं जोकि पिछले महीने 2 हजार के करीब पहुंच गए थे। अगर लोग सावधानी रखेंगे तो कोरोना को पूर्ण तौर पर खत्म कर सकते हैं। इसके लिए घर से बाहर निकलते समय हमेशा मुंह पर मास्क पहनें, आपसी दूरी बनाकर रखें, सैनिटाइजर का प्रयोग करें।

खबरें और भी हैं...