पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

स्ट्रीट लाइट:हरकत में आई रोपड़ नगर कौंसिल स्ट्रीट लाइटों की रिपेयरिंग शुरू

रोपड़8 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
  • बूटी से ढंकी स्ट्रीट लाइट की साफ, जली हुई तारें बदलीं

रोपड़ शहर में सिर्फ 50 फीसदी स्ट्रीट लाइटें चलने की खबर को भास्कर द्वारा प्रमुखता से छापने के बाद वीरवार को नगर कौंसिल ने हरकत में आते हुए शहर की स्ट्रीट लाइटों को ठीक करवाया और खराब बल्ब बदलकर शहर को दोबारा जगमग किया जा रहा है। आदर्श नगर में जो नई लाइटें लगाई गई हैं, उनके जल्द कनेक्शन लेकर जोड़े जाएंगे। नगर कौंसिल से मिली जानकारी के अनुसार मल्होत्रा कॉलोनी-गार्डन कॉलोनी रोड पर लगी स्ट्रीट लाइटों की जली हुई केबल को बदल दिया है। रैलों रोड पर स्ट्रीट लाइट के पोल पर चढ़ी बेल को उतारा और मिनी सचिवालय के नजदीक स्ट्रीट लाइट पर लगे जाले और धूल मिट्टी को भी साफ किया है। इसके अलावा ज्ञानी जैल सिंह नगर, हरगोबिंद नगर, न्यू हरगोबिंद नगर, दशमेश नगर, प्यारा सिंह कॉलोनी सहित अन्य जगह स्ट्रीट लाइटों की भी मरम्मत की गई है।

बदा दें कि रोपड़ शहर में कुल 4461 स्ट्रीट लाइटें लगी हैं। इनकी मेेंटिनेंस के लिए नगर कौंसिल द्वारा साल में 5 लाख रुपए बजट रखा जाता है जबकि 4 लाख 50 हजार रुपए मेंटिनेंस पर खर्च आ जाता है। नगर कौंसिल ने मेंटीनेंस के लिए आउटसोर्स पर 12 मुलाजिम रखे हैं। जिनकी सैलरी पर करीब 18 लाख 96 हजार रुपए एक साल में खर्चा आता है। हर माह लाइटों का करीब 10 लाख रुपए बिल आता है। इसके बावजूद 50 फीसदी लाइटें ही काम करती थीं।

बजट व कोरोना के चलते नहीं खरीद पाए सामान, एलईडी से चला रहे काम : क्लर्क

इस संबंधी स्ट्रीट लाइट क्लर्क ने बताया कि एक साल से नगर कौंसिल की आर्थिक हालत ठीक न होने व कोरोना के चलते सामान नहीं खरीदा गया। जिससे सोडियम लाइट 70 वाट, 150 वाट, 250 वाट, 400 वाट व चोक बल्ब की कमी आ गई और काम चलाने के लिए 9-9 वाट के 285 एलईडी बल्ब पिछले साल खरीदकर शहर को अंधेरे से बचाया जा रहा है।

आज का राशिफल

मेष
Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
मेष|Aries

पॉजिटिव- आप अपने विश्वास तथा कार्य क्षमता द्वारा स्थितियों को और अधिक बेहतर बनाने का प्रयास करेंगे। और सफलता भी हासिल होगी। किसी प्रकार का प्रॉपर्टी संबंधी अगर कोई मामला रुका हुआ है तो आज उस पर अपना ध...

और पढ़ें