मां भद्रकाली मेला:डेढ़ लाख श्रद्धालु नतमस्तक 2 संस्थाओं के शिविर में 205 लोगों ने किया खूनदान

कपूरथलाएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक
  • कपूरथला शहर और शेखूपुर तक दर्जनों लंगर, छबीलें, आईसक्रीम आदि का लंगर चलता रहा

माता भद्रकाली का 75वां एतिहासिक वार्षिक मेला शेखूपुर में संपन्न हो गया। मेले में 2 दिन में देश-विदेश से लगभग डेढ़ लाख श्रद्धालु नतमस्तक हुए। मेले की शुरुआत सुबह 9 बजे दुर्गा हवन से हुई। 12 बजे पूर्णाहूति डाली गई। हवन में कांग्रेस के विधायक राणा गुरजीत सिंह व आप की हलका इंचार्ज मंजू राणा ने पूजा पाठ कर मां का आशीर्वाद लिया। मेले को लेकर श्रद्धालुओं की बाजारों में लंबी कतार लगी रही। कपूरथला शहर और शेखूपुर तक दर्जनों लंगर, छबीलें, आईसक्रीम आदि का लंगर चलता रहा।

श्रद्धालुओं के लिए शहर से मुफ्त सेवा वाहन भी लगाए गए। मेले में पुलिस की ओर से सुरक्षा को लेकर कड़े प्रबंध किए गए। पैदल और वाहनों के लिए अलग-अलग रास्ते बनाए गए। दो अलग-अलग छोटे-बड़े वाहनों की पार्किंग बनाई गई। संगत की मंदिर में देर रात तक भीड़ जुटी रही। चारों ओर जय माता की, जय माता की जयकारें गूंजते रहे। मेले में खूनदान कैंप, मेडिकल चेकअप कैंप भी लगाए गए। मेले में पंजाब की धार्मिक भजन मंडलियों व कलाकारों ने महामाई जी की महिमा का गुणगान किया। कपूरथला में मां भद्रकाली मेले को बड़े ही उत्साह से मनाया जाता है। इस बार निजी वाहन चालकों, ऑटो चालकों व टेक्सी वालों ने नई पहल की। कपूरथला के विभिन्न चौकों, बाजारों, घरों व मोहल्लों में जाकर घोषणा की कि जो भी श्रद्धालु मां के दर्शन करना चाहता है, उसे फ्री में ले जाया जाएगा और वापस घर भी पहुंचाया जाएगा। यह सिलसिला 25 मई सुबह से 26 मई रात तक जारी रहा।

खबरें और भी हैं...