ओवरडोज से युवक की मौत:पिता बोले-नशे के सौदागरों ने बेटे की जान ली, मोहल्ले में खुलेआम बिकता है चिट्टा

कपूरथला4 महीने पहलेलेखक: रजनीश चौधरी
  • कॉपी लिंक
मृतक मनदीप सिंह की तस्‍वीर हाथ में लिए पिता। - Dainik Bhaskar
मृतक मनदीप सिंह की तस्‍वीर हाथ में लिए पिता।

नशे के सौदागरों ने युवक को नशे का आदी बना दिया। नशा युवक मनदीप सिंह पर इतना हावी हो गया कि वह नशे के बगैर नहीं रह पाता था। शनिवार को युवक पिता से झगड़ा कर नशा खरीद लाया और उसे अपनी नसों में उतार लिया। जैसे-तैसे युवक घर पहुंचा और सीधा बाथरूम में नशे की हालत में गिर गया। पिता को जानकारी हुई तो वह बेटे को सिविल अस्पताल इलाज के लिए ले गए, जहां डाक्टर ने युवक को मृत घोषित कर दिया। पिता ने रोते हुए नशा सौदागरों के नाम बताते हुए आरोप लगाया कि आरोपी मोहल्ले में सरेआम चिट्टा बेचने का काम करते हैं।

उन्होंने बताया कि आरोपियों के बारे में पुलिस से भी गुहार लगाई थी, लेकिन कोई कार्रवाई नहीं हुई। बेटे की मौत के बाद पुलिस ने महिला समेत 5 लोगों के खिलाफ धारा 304 के तहत मामला दर्ज कर लिया है। वहीं, युवक की नशे से मौत होने के बाद कई मोहल्ला निवासी अब खुल कर सामने आने के लिए तैयार हैं तथा नशे के सौदागरों को सलाखों के पीछे धकेलना चाहते हैं। थाना सिटी के एसएचओ सुरजीत पत्तड़ ने बताया कि आरोपी घर से फरार हैं। पुलिस उनकी गिरफ्तारी के लिए छापेमारी कर रही है।

नशे की भयावहता...पिता ने रोका तो बोला-नशे के बिना नहीं रह सकता और खरीदने चला गया

ओवरडोज से बाथरूम में गिर गया था मनदीप
पुलिस को दिए गए बयान में कश्मीर सिंह उर्फ वीरू निवासी मोहल्ला किलेवाला ने बताया कि अजय पलंबर, साबी निवासी नामदेव कालोनी, विक्की, गुड्‌डो प्रधान व सन्नी घोड़ी निवासी मोहल्ला उच्चा धोड़ा यह सभी नशे का कारोबार करते हैं। लड़के मनदीप सिंह की जान पहचान इनसे हो गई और इन्होंने उसके लड़के को नशा करने का आदी बना दिया। कई बार लड़के को समझाने का प्रयास किया, लेकिन अजय पलंबर व साबी ने उसके लड़के का साथ नहीं छोड़ा और उसे नशा देना जारी रखा।

जब उसने अजय व साबी को रोका तो वह कहने लगे कि यह उनका कारोबार है। बीते दिन मनदीप कहने लगा कि वह नशे के बिना नहीं रह सकता। वह अजय पलंबर व साबी से नशा लेने जा रहा है। उसने अपने लड़के को रोकने का प्रयास किया, लेकिन वह नहीं रुका। वीरु ने बताया कि लड़के के चले जाने के बाद वह काम पर चला गया।

शाम 4:30 बजे उसे तारा सिंह का फोन आया कि मनदीप अधिक नशा करने कारण बाथरूम में गिरा पड़ा है। वह तुरंत घर पहुंचे और सिविल अस्पताल ले गए। जहां डॉक्टर ने उसे मृत घोषित कर दिया। पुलिस ने मृतक युवक के पिता के बयानों के आधार पर महिला समेत 5 आरोपियों के खिलाफ धारा 304 आईपीसी के तहत केस दर्ज कर लिया है, सभी आरोपी फरार हैं।

पुलिस को तस्करों की सूचना देने पर मिलती हैं धमकियां: कश्मीर
मृतक युवक मनदीप सिंह के पिता कश्मीर सिंह का कहना है कि उसने कई बार पुलिस को बताया है कि उनके मोहल्ले तथा आसपास क्षेत्र में सरेआम नशा बिकता है। जैसे ही वह पुलिस को बताता था तो कुछ मिनटों बाद ही उसे फोन पर नशे का कारोबार करने वाले वालों की तरफ से जान से मारने की धमकियां मिलने लग जाती थीं। मृतक के पिता ने कहा कि नशे कारोबार करने वालों ने उसके बेटे को मौत के घाट उतारा है। पुलिस इन सौदागरों पर कड़ी कार्रवाई करे।

खबरें और भी हैं...