कार्यक्रम:आजादी की 75वीं वर्षगांठ को समर्पित इप्टा का स्थापना दिवस समागम करवाया, नफरत को प्रेम से खत्म करें- डाॅ. दीप्ति

सुल्तानपुर लोधीएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक
  • समागम में प्रसिद्ध लेखक डाॅ. शाम सुंदर दीप्ति मुख्य प्रवक्ता के तौर पर पहुंचे

इंडियन पीप्लज थिएटर एसोसिएशन (इप्टा) द्वारा भाषा विभाग पंजाब के सहयोग से आजादी की 75वीं वर्षगांठ को समर्पित इप्टा का स्थापना दिवस समागम “ढाई अखर प्रेम के’ सुल्तानपुर लोधी में डाॅ. हरभजन सिंह प्रधान इप्टा की अध्यक्षता में करवाया गया। इसमें मुख्यातिथि के तौर पर जिला भाषा विभाग अधिकारी जसप्रीत कौर विशेष तौर पर पहुंची। उन्होंने कहा कि जिंदगी रंगमंच ही है और जिंदगी रंगमंच की तरह जीते हैं। वहीं, समागम में प्रसिद्ध लेखक डाॅ. शाम सुंदर दीप्ति मुख्य प्रवक्ता के तौर पर पहुंचे।

उन्होंने कहा कि संविधान के चार शब्द आजादी, भाईचारक, इंसाफ बराबर के मौके होने चाहिएं। इस मौके पर इंद्रजीत सिंह रुपोवाली महासचिव इप्टा पंजाब ने इप्टा के बारे में जानकारी देते बताया कि पंजाब में गुरबख्श सिंह प्रीतलड़ी इप्टा लेकर आए थे। उन्होंने कहा कि इप्टा लोगों की है और लोगों की बात करती है। यह रंगमंच लोगों के लिए बनाया गया है। उन्होंने बताया कि पांच राज्यों में नाटक खेले गए और यात्रा निकाली गई। इस समागम में विशेष तौर पर प्रोमिला अरोड़ा ने भी संबोधित किया। जसप्रीत सिंह ने गीत व हरकीरत ने अपनी कविता पेश की। मंच संचालन की भूमिका एडवोकेट जसपाल गिल ने निभाई। इस अवसर पर कश्मीर बजरोर प्रधान इप्टा आरसीएफ, बार एसोसिएशन सुल्तानपुर लोधी के प्रधान सतनाम सिंह मोमी, एडवोकेट राजिंदर सिंह राणा, गुरमीत सिंह ढिल्लों एडवोकेट, डाॅ. स्वर्ण सिंह, शरणजीत सोहल, सर्बजीत रुपेवाली, मनप्रीत कौर, सुनीता, निशा, साहिल, अनीशा, आरती, समीक्षा गिल आदि सहित भारी संख्या में गणमान्य व्यक्ति उपस्थित थे।

खबरें और भी हैं...