कपूरथला सिटी थाने में युवक की मौत:पत्नी बोली- दोपहर में आया खाना दे जाने का कॉल, शाम को मौत की खबर आई

कपूरथला2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
मृतक रोशनलाल का फाइल फोटो। - Dainik Bhaskar
मृतक रोशनलाल का फाइल फोटो।

पंजाब के कपूरथला थाना सिटी में रविवार देर रात चोरी के आरोप में काबू किए गए युवक की संदिग्ध परिस्थितियों में मौत के मामला का जालंधर रेंज के DIG S भूपति ने संज्ञान लिया है। DIG ने मामले की जांच SP D हरविंदर सिंह को सौंपी है। वहीं, मृतक की पत्नी ने भी मामले में बड़ा खुलासा किया है। पत्नी का कहना है कि पहले थाने से फोन आया कि हवालाती पति को खाना दे जाओ। कुछ देर बाद ही फिर फोन आया कि उसके पति की मौत हो गई है। मोर्चरी से उसका शव ले जाओ। ऐसे में सिटी थाना पुलिस की भूमिका पर कई सवाल खड़े हो रहे हैं.

पुलिस सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार कल सिटी थाना पुलिस ने चोरी की बाइक सहित गांव रत्ता नौ आबाद निवासी रोशनलाल को काबू किया था। उसकी देर रात सिटी थाना परिसर में संदिग्ध परिस्थिति में मौत हो गई। आनन फानन सिटी थाना के ASI राजिंदर सिंह ने शव को सिविल अस्पताल के मोर्चरी में रखवा दिया।

बताते हैं कि आरोपी को किसी की शिकायत पर बाइक सहित काबू किया गया था। जिसकी दस्तावेजों में गिरफ्तारी अभी नहीं दिखाई गई थी। सिटी थाना परिसर में युवक की मौत की घटना के बाद SHO सिटी कृपाल सिंह का मोबाइल फोन स्विच ऑफ आ रहा था। थाना के दोनों मुंशी छुट्टी पर हैं। अन्य कर्मचारी भी फोन उठाने को तैयार नहीं हैं। आलम यह है कि हर कोई इस मामले में कुछ भी कहने से गुरेज करता दिखाई दिया।

वहीं, मृतक की पत्नी का बयान सामने आने पर मामले ने तूल पकड़ लिया है. मृतक की पत्नी का सीमा का कहना है कि दोपहर को थाना सिटी से 7347305537 नंबर से उसके पास कॉल आई थी कि हवालाती पति को खाना दे जाओ। शाम को दोबारा फोन आया। इस दौरान पुलिस कर्मी ने बताया कि पति की मौत हो चुकी है। शव मोर्चरी से ले जाओ। उसने जब पूछा कि पति को कोई बीमारी नहीं थी तो मौत कैसे हुई? इस पर कोई जवाब नहीं मिला।

मामले को तूल पकड़ता देख DIG S भूपति ने संज्ञान लेकर जांच SP D हरविंदर सिंह को सौंप दी है। वहीं, बता दें कि SHO सिटी कृपाल सिंह मौत के मामले को लेकर गंभीर नहीं दिख रहे हैं। जब से पुलिस कर्मियों ने रोशन लाल को हिरासत में लिया। तभी से वह सिर्फ और सिर्फ वेरीफाई करने की बात ही कह रहे हैं। सूत्र बताते हैं कि SHO की पहले भी गतिविधियां संदेहपूर्ण रही हैं। क्योंकि लगभग 3 माह पहले SHO की बाइक पर उनके भांजे ने शहर में एक चोरी की थी। और FIR में SHO की बाइक भी दर्ज है।