खूनी जंग:पंचायत जमीन की बोली को लेकर दो पक्षों में खूनी जंग, 3 लोग घायल, 13 पर पर्चा

जगराओं16 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
  • पुलिस ने मामले की जांच कर दोनों पक्षों के 13 लोगों पर कारवाई करते हुए एक दूसरे के खिलाफ केस दर्ज कर लिया

गांव राऊवाल में पंचायत की जमीन की बोली को लेकर दो पक्षों में खूनी जंग हो गई। इस दौरान दोनों पक्षों के तीन लोग गंभीर रूप से घायल हो गए। जिनको सरकारी अस्पताल में दाखिल करवाया गया। दोनों ही पक्षों ने एक दूसरे पर आरोप लगाए। इस मौके पर पुलिस ने मामले की जांच कर दोनों पक्षों के 13 लोगों पर कारवाई करते हुए एक दूसरे के खिलाफ केस दर्ज कर लिया। पहले मामले में जानकारी देते हुए थाना सिधवां बेट के एएसआई राजवरिंदरपाल सिंह ने बताया कि गुरसेवक सिंह निवासी राऊवाल ने पुलिस को दर्ज करवाई शिकायत में कहा कि उनके गांव में पचायत की जमीन की बोली हुई थी। जिसको उसके ताया अमरजीत सिंह व बलवंत सिंह बोली लगानी शुरू कर दी।

इस दौरान उसके ताया अमरजीत ने ज्यादा बोली लगा कर जमीन को हासिल कर लिया। पंचायत की जमीन लेकर वह उसका ताया व ताया का बेटा अपने पुराने घर से चले गए। जब शाम के समय घर से वाहर निकले आरोपी बलवीर सिंह साथियो संग उन्हें यह कहते हुए घेर लिया कि इन्होंने हमारे विरूध बोली लगा कर अच्छा नहीं किया। इन्हें अब बोली लगाने का मजा चखाओ। जिसके बाद आरोपियों ने उन पर हमला कर दिया तो आरोपियो ने उसे व उसके चचेरे भाई पर हमला कर घायल कर दिया। पुलिस ने इस संबंधी बलवंत सिंह, सुखराज सिंह, जुगराज सिंह, बलवीर सिंह, मनप्रीत सिंह, सोनी व तारा सिंह समेत सात लोगो पर मामला दर्ज कर लिया।

वहीं, दूसरे पक्ष के बलवत सिंह ने पुलिस को दिये बयान में बताया कि उन के गांव राऊवाल में पंचायत की जमीन की बोली हुई। जिसको अमरजीत सिंह ज्यादा बोली लगा कर जमीन हासिल कर ली। जिसके बाद वह और उसका बेटा सुखराज सिंह खेत चले गए। जब वह जगदेव सिंह के घर के नजदीक पहुंचे तो आरोपियों ने उन्हें घेर लिया। इस दौरान गुरदेव सिंह ने ललकारा मारते कहा कि इन लोगों ने अपने खिलाफ बोली लगानी की हिम्मत दिखाई थी। इन्हें बोली लगाने का मचा चखाओ। जिसके बाद आरोपियों ने उन पर हमला कर दिया। इस संबंधी पुलिस ने अमरजीत सिंह, वरिंदर सिंह, गुरसेवक सिंह, निक्का सिंह, मनदीप सिंह, गुरदियाल सिंह निवासी राऊवाल के खिलाफ केस दर्ज किया है।

खबरें और भी हैं...