पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

हादसों को दावत:पराली से भरी ट्राॅली बिजली की तारों से टकराई, देखते ही देखते फैली आग, धुआं फैलने से सांस लेने में दिक्कत

खन्ना8 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
धुआं फैलने से सांस लेने में दिक्कत - Dainik Bhaskar
धुआं फैलने से सांस लेने में दिक्कत
  • सड़कों पर दौड़ रही पराली और धान की फसल से भरी ट्रॅालियां दे रही हादसों को दावत

शहर में इन दिनों नियमों से खिलवाड़ करते हुए फसल और पराली से भरी ओवरलोड ट्रॉलियां लोगों की जान से खिलवाड़ करते हुए घूम रही हैं। लेकिन, प्रशासन सब कुछ देखते हुए किसी बड़े हादसे के इंतजार में हैं। दो दिन पहले अनाज मंडी दौरे पर आए मंडी बोर्ड के सेक्रेटरी रवि भगत के आगे मामला उठाने पर उनके द्वारा दी हिदायत का भी प्रशासन पर कोई असर नहीं है।

नतीजा, सड़क पर जाते समय लोगों की जान जोखिम में है। आज जीटी रोड पर लिबड़ा के पास पराली से भरी ट्राॅली के साथ हादसा भी हो गया। खामियाजा लोगों ने भुगता। लेकिन अब भी प्रशासन पर कोई असर नहीं है। जानकारी के मुताबिक खन्ना के लिबड़ा गांव में पराली से भरी ट्रैक्टर ट्रॉली को आग बिजली की तारों से टकराने के बाद हुए शार्ट सर्किट के कारण आग लग गई। आग लगने से चारों तरफ धुआं फैल गया। जिससे जहा लोगों को सांस लेने में दिक्कत हुई। वहीं, माली नुकसान भी हुआ।

फायर ब्रिगेड की दो गाड़ियों ने आग पर पाया काबू

आग इतनी भयानक थी कि आनन-फानन में लोगों ने पानी डालकर आग को बुझाने की कोशिश की। लेकिन लगातार आग बेकाबू होने पर फायर ब्रिगेड को बुलाया गया। तब जाकर घंटे की मशकत के बाद फायर ब्रिगेड की दो गाड़ियों ने आग पर काबू पाया। हादसे में जानी नुकसान का बचाव रहा।

उधर, ट्रैक्टर ट्रॉली ड्राइवर अवतार सिंह ने बताया कि वह इकोलाहा से गगड माजरा पराली लेकर जा रहे थे, लिबड़ा के पास पहुंचने पर ट्राली पर लोड़ पराली बिजली की तारों से टकरा गई, जिसमें देखते ही देखते आग लग गई। जबकि फायर ब्रिगेड अधिकारी यशपाल गोमी ने बताया कि सूचना मिलने पर वह टीम के साथ तुरंत मोके पर पहुंचे। फायर ब्रिगेड की दो गाड़ियों ने मशकत के बाद आग पर काबू पाया।

अब भी नियमों से खिलवाड़: खन्ना में एशिया की सबसे बड़ी अनाज मंडी है। सरकार ने बाकायदा टेंडर निकाल कर ठेकेदार को फसल की लिफ्टिंग का ठेका ट्रकों में पहुंचाने के लिए दिया है। शहर में चारों तरफ फैले खरीद एजेंसियों के गोदामों और शेलर तक फसल को पहुंचाने के लिए ठेकेदार ट्रक के साथ-साथ ट्राॅलियों का प्रयोग कर रहा है।

ठेकेदार मदन से जब पूछताछ की गई तो उसका कहना था कि उनको सरकार की तरफ से ट्रालियों में लिफ्टिंग करवाने की परमिशन है। जबकि ट्रैफिक इंचार्ज से बात की गई तो उन्होंने कहा कि ट्रालियों को कमर्शियल प्रयोग के लिए नहीं प्रयोग किया जा सकता। अगर कॉमेरशल प्रयोग हो रहा है तो करवाई की जाएगी।

खबरें और भी हैं...