बठिंडा में मौत पर सियासत:CM चन्नी ने DGP को दिए कड़े आदेश; सुखबीर बादल ने कहा- कांग्रेस राज में गैंगस्टरों का आतंक

लुधियाना2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक

पंजाब के बठिंडा जिले में फायरिंग में एक युवक की मौत के बाद इस पर भी सियासत शुरू हो गई है। प्रदेश के मुख्यमंत्री चरणजीत सिंह चन्नी को घेरते हुए सुखबीर सिंह बादल ने सवाल खड़े किए हैं। इस बीच मुख्यमंत्री चरणजीत सिंह चन्नी ने पुलिस अफसरों की बैठक बुलाकर अमन कानून की स्थिति बहाल करने के आदेश दिए हैं। बठिंडा की अजीत रोड गली में एक पार्क में बैठे दो युवकों पर 10 से ज्यादा हथियारबंद लोगों ने ताबड़तोड़ फायरिंग कर दी थी। इस हमले में महीमा मकवाना निवासी हसन की मौके पर ही मौत हो गई। हमलावरों ने भाग रहे मृतक के साथी बूटा सिंह निवासी गांव जंडावाला की टांगों पर कई गोलियां मारकर हॉकी-डंडों और हथियारों से प्रहार करके हाथ-पैर तोड़ दिए। वारदात की CCTV फुटेज भी सामने आई है। शुरुआती जांच में सामने आया है कि मामला प्रेम संबंधों से जुड़ा हो सकता है।

सुखबीर सिंह बादल द्वारा किया गया ट्वीट
सुखबीर सिंह बादल द्वारा किया गया ट्वीट

प्रत्यक्षदर्शियों ने बताया कि गली नंबर 6 में पार्क में हसन सिंह निवासी गंडा वाला अपने जानकार बूटा सिंह महीमा मकवाना के साथ बैठा बातें कर रहा था। उसी दौरान 10 से ज्यादा हथियारबंद युवक पार्क में पहुंचे। पहले हमलावरों ने पार्क में बैठे हसन पर फायरिंग की। गोली लगने से हसन सिंह की मौके पर ही मौत हो गई। वहीं पार्क से भाग रहे हसन के साथी बूटा सिंह को हमलावरों ने सड़क पर घेर कर बुरी तरह पीटा। उसकी टांगों पर गोलियां मारीं और फिर हॉकी-डंडों और हथियारों से सिर, टांगों और बाहों पर बुरी तरह प्रहार किए। चोट मारकर उसके हाथ-पैर तोड़े और लोगों के इकट्‌ठा होने पर गाड़ी में बैठकर भाग गए। गंभीर हालत में बूटा सिंह को अस्पताल में भर्ती करवाया गया है।

सुखबीर बादल ने उठाए अमन कानून पर सवाल

शिअद अध्यक्ष सुखबीर सिंह बादल ने ट्वीट करते हुए सवाल उठाए हैं कि प्रदेश में अमन कानून की स्थिति बेहद खराब चल रही है। मैं सीएम से अनुरोध करता हूं कि वह फोटो खिंचवाना छोड़कर कानून और व्यवस्था की स्थिति की समीक्षा करें और गैंगस्टर संस्कृति को समाप्त करने के लिए काम करें। इसने बठिंडा में एक और जिंदगी छीन ली है। पंजाब में कांग्रेस शासन के तहत गैंगस्टरों को स्वतंत्र शासन की अनुमति दी जा रही है, जिससे आम नागरिकों में भय का माहोल पैदा हो गया है।

डीजीपी से बैठक करके हालातों की समीक्षा करते सीएम चन्नी।
डीजीपी से बैठक करके हालातों की समीक्षा करते सीएम चन्नी।

सीएम चन्नी से डीजीपी से बैठक करके समीक्षा की

पंजाब के मुख्यमंत्री चरणजीत सिंह चन्नी ने पुलिस फोर्स को राज्यभर में पुलिसिया कामकाज में और ज्यादा कुशलता व पारदर्शिता यकीनी बनाने के लिए कहा। इससे अमन-कानून की व्यवस्था में आम लोगों का भरोसा पैदा होगा। पुलिस फोर्स को भ्रष्टाचार पर नकेल कसने, नशे की सप्लाई लाइन तोड़ने, अवैध शराब का कारोबार खत्म करने और रेत माफिया से निपटने के लिए एकजुट होकर काम करने को कहा। मुख्यमंत्री ने स्पष्ट शब्दों में कहा कि हमारे नौजवानों को नशे की बीमारी का शिकार बनाने वाले तस्करों की पहचान करने के लिए पुलिस को उचित प्रणाली विकसित करनी चाहिए। मुख्यमंत्री के तौर पर पद संभालने के बाद पुलिस आधिकारियों के साथ पहली मीटिंग करते हुए चन्नी ने अफसरों को अपनी ड्यूटी समर्पित भावना, इमानदारी और पेशेवर वचनबद्धता के साथ निभाने के लिए कहा।

खबरें और भी हैं...