• Hindi News
  • Local
  • Punjab
  • Ludhiana
  • Akali Leader Garewal Called Minister Ashu's Wife Tatiri, In Response Mamta Said, You Call Family Members In The Same Way

महेशइंद्र ग्रेवाल का महिला के प्रति बेहूदा बयान:अकाली नेता ने कैबिनेट मंत्री आशु की पत्नी को बताया टटीरी, ममता आशु ने पलटकर पूछा- अपने घर में भी बहू-बेटी से ऐसे ही बात करते हो

लुधियाना7 दिन पहलेलेखक: दिलबाग दानिश
  • कॉपी लिंक

शिरोमणि अकाली दल बादल के सीनियर नेता महेशइंद्र सिंह ग्रेवाल अपने एक बयान की वजह से सुर्खियों में हैं। बहू-बेटियों के प्रति उनके नजरिये की आलोचना हो रही है। ग्रेवाल ने बुधवार को पत्रकारों से बातचीत में कैबिनेट मंत्री भारत भूषण आशु की पत्नी और लुधियाना की पार्षद ममता आशु को टटीरी (एक पक्षी) बता दिया। इसके बाद ममता आशु ने ग्रेवाल से पूछा है कि क्या वह अपने घर में भी बहू-बेटियों से इसी तरह बात करते हैं?

प्रेस कॉन्फ्रेंस के दौरान महेशइंद्र ग्रेवाल।
प्रेस कॉन्फ्रेंस के दौरान महेशइंद्र ग्रेवाल।

बुधवार को प्रेस कॉन्फ्रेंस में ग्रेवाल ने कहा कि आशु की पत्नी और पार्षद ममता आशु एक मंत्री की पत्नी के अलावा कुछ नहीं है। टटीरी की तरह यह मत समझो कि आसमान आप ही के सिर पर खड़ा है। ग्रेवाल यहीं नहीं रुके और ममता आशु के बारे में बोले, 'गलतफहमी में न रहो, मंत्री को भी मरवाओगे और खुद भी मरोगे। यह बातें गलत हैं। उसी अथॉरिटी का इस्तेमाल करना चाहिए, जिसकी इजाजत कानून देता है।'

क्या घर में ऐसे ही बात करते हैं ग्रेवालः ममता आशु
महेशइंद्र ग्रेवाल के बयान का ममता आशु ने कड़े शब्दों में विरोध किया है। ग्रेवाल की प्रेस कॉन्फ्रेंस के कुछ देर बाद ममता आशु ने उनसे पूछा कि क्या वह अपने घर पर भी बच्चों और बहू-बेटियों से इसी तरह बात करते हैं? ममता आशु ने कहा कि वह जनता द्वारा चुनी हुई पार्षद हैं और उसी नाते लोगों से मीटिंग करती हैं और आगे भी करती रहेंगी। ग्रेवाल उनके पिता सामान हैं और वह उनकी इज्जत करती हैं मगर उनकी भाषा निंदनीय है और इसका विरोध होना चाहिए।

ममता आशु ने कांग्रेस समर्थकों से अपील की कि वह ग्रेवाल के इस बयान को ज्यादा से ज्यादा लोगों तक पहुंचाएं ताकि आम लोगों को पता चला सके कि अकाली नेता महिलाओं के प्रति कैसा नजरिया रखते हैं। ग्रेवाल का बयान अकेले उनके लिए नहीं बल्कि उन सभी महिलाओं के लिए है, जो समाज में रहते हुए घर चलाने के साथ्-साथ काम भी करती हैं।

सोशल मीडिया लाइव के दौरान ममता आशु।
सोशल मीडिया लाइव के दौरान ममता आशु।

ममता के बोर्ड उतारने वाले बयान से उठा मुद्दा
ममता आशु ने कुछ दिन पहले सोशल मीडिया पर पोस्ट डालकर शहर में लगे विज्ञापन बोर्डों को उतारने की मांग की थी, ताकि शहर की सुंदरता बरकरार रखी जा सके। उन्होंने कहा था कि उनके समर्थक ऐसे बोर्ड न लगाएं। इसके बाद ही अकाली नेता ग्रेवाल ने प्रेस कॉन्फ्रेंस कर ममता आशु पर निशाना साधा।

खबरें और भी हैं...