सिंघु बॉर्डर पर मारे गए लखबीर का नया वीडियो:शरीर पर घाव नहीं, टांगें बंधी हुईं; 30 हजार रुपए मिलने की बात मानी, दिया मोबाइल नंबर

लुधियाना7 महीने पहले
  • 43 सेकेंड का है नया वीडियो, जिसे दमनजीत सिंह खालसा ने जारी किया है
  • वीडियो में लखबीर ने अपने साथ एक युवक के भी आने की बात कही है

हरियाणा में सोनीपत के सिंघु बॉर्डर पर दशहरे की सुबह मारकर बैरिकेड पर लटकाए गए लखबीर सिंह का एक और वीडियो सामने आया है।

करीब 43 सेकेंड लंबे इस नए वीडियो में लखबीर सिंह के शरीर पर कोई घाव नहीं दिख रहा है, लेकिन उसकी टांगें बंधी हुई हैं। वीडियो में लखबीर सिर्फ कछहरा (कच्छा) पहनकर जमीन पर पड़ा दिख रहा है।

पीठ के बल पड़ा लखबीर वीडियो में बोल रहा है कि उसे 30 हजार रुपए दिए गए हैं और उसके साथ एक और युवक भी है। इसके बाद वह उक्त युवक का मोबाइल नंबर होने की बात कहता है। कुछ लोगों के पूछने पर लखबीर मोबाइल नंबर 991568**** की जानकारी देता है। इस दौरान कुछ लोग यह मोबाइल नंबर नोट करने की बात कहते सुनाई देते हैं।

यह वीडियो लखबीर की हत्या के छठे दिन, 20 अक्टूबर को सामने आया है, जिसमें दावा किया जा रहा है कि इस वीडियो में लखबीर सिंह खुद श्री गुरु ग्रंथ साहिब की बेअदबी के लिए भेजे जाने की बात कबूल कर रहा है और साथ ही वह अपने साथी का मोबाइल नंबर भी बता रहा है।

यह वीडियो दमनजीत सिंह खालसा की ओर से अपने सोशल मीडिया अकाउंट पर डाला गया है। इसके ऊपर लिखा गया है कि जो लोग सिंघु बॉर्डर पर बेअदबी होने के सबूत मांग रहे हैं, वह यह लें सबूत।

निहंगों से मांगे जा रहे सबूतों के बीच आया वीडियो
15 अक्टूबर की सुबह सिंघु बॉर्डर पर तरनतारन के चीमा गांव के लखबीर सिंह का एक हाथ और पांव काट दिया गया था और मौत के बाद उसकी बॉडी सड़क किनारे बैरिकेड पर टांग दी गई थी। घटनास्थल पर मौजूद निहंगों ने दावा किया था कि लखबीर ने बेअदबी की, जिसके लिए उसे सजा दी गई।

इस घटना के बाद से ही संयुक्त किसान मोर्चा के साथ-साथ कई सियासी दल और एक अन्य बहुत बड़ा वर्ग निहंग जत्थेबंदियों से बेअदबी के सबूत मांग कर रहा है। संत बाबा रणजीत सिंह ढडरियावाले ने तो इसके निजी रंजिश का मामला होने की संभावना जता दी थी, जिसमें बेअदबी का आरोप लगाकर हत्या कर दी गई। ढडरियावाले ने भी कहा था कि बेअदबी के सबूत भी सामने आने चाहिए।

निहंग कर चुके बेअदबी की जांच की मांग
निहंग जत्थेबंदियां भी सोनीपत के एसपी जशनदीप सिंह रंधावा से मिलकर सिंघु बॉर्डर पर बेअदबी होने की शिकायत देकर केस दर्ज करने और उसकी जांच करने की मांग कर चुकी हैं। हालांकि सोनीपत पुलिस ने अभी तक बेअदबी का केस दर्ज नहीं किया है।

लखबीर की हत्या के बाद सरेंडर करने वाले चारों निहंग नारायण सिंह, सरबजीत सिंह, भगवंत सिंह और गोविंदप्रीत सिंह पुलिस के साथ-साथ सोनीपत में जज के सामने भी कह चुके हैं कि लखबीर ने उनके डेरे में घुसकर बेअदबी की थी, जिसकी सजा उसे दी गई।