पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App
  • Hindi News
  • Local
  • Punjab
  • As Many As 562 Teaching, 2259 Non teaching Posts Have Been Vacant For 10 Years Under The State Scheme In PAU, Impact On Studies, Research And Extension Activities

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

रिसर्च:पीएयू में स्टेट स्कीम के तहत 10 सालों से टीचिंग के 562, नॉन-टीचिंग के 2259 पद खाली, पढ़ाई-रिसर्च और एक्सटेंशन गतिविधियों पर असर

लुधियाना2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
  • स्टाफ की कमी से जूझ रही सूबे की सबसे बड़ी खेतीबाड़ी यूनिवर्सिटी, हर व्यक्ति को निभानी पड़ रही दोहरी जिम्मेदारी

पंजाब एग्रीकल्चरल यूनिवर्सिटी सूबे की सबसे बड़ी खेतीबाड़ी यूनिवर्सिटी है, लेकिन पिछले 10 सालों से यूनिवर्सिटी में स्टेट स्कीम के तहत भर्ती किए जाने वाले टीचिंग और नॉन टीचिंग स्टाफ के 50-60% पद खाली हैं। वहीं, आईसीएआर और अन्य स्कीमों के तहत भी भर्ती किए जाने वाले टीचिंग स्टाफ के 2 से 12% पद खाली हैं। नॉन टीचिंग में 7 से 56% पद खाली हैं। इन खाली पदों का असर ये पड़ रहा है कि एक टीचर और नॉन टीचिंग स्टाफ के पास एक से ज्यादा जिम्मेदारियां हैं। यूनिवर्सिटी में टीचिंग, रिसर्च और एक्सटेंशन गतिविधियों पर काम किया जाता है, लेकिन स्टाफ की कमी के कारण इन तीनों ही गतिविधियों में कहीं न कहीं असर पड़ रहा है।

टीचिंग में 1362 में से 762 ही भरी, नॉन टीचिंग में 4244 में से 1916

पीएयू के 2019-20 बजट के मुताबिक टीचिंग में स्टेट स्कीम के तहत 1056 पोस्ट हैं। इनमें से 494 भरी हैं। 562 पोस्ट खाली हैं, जोकि 53.22% है। आईसीएआर के तहत 281 पोस्ट हैं। इनमें से 276 भरी और 5 (1.78%) खाली हैं। अन्य स्कीमों के तहत 25 पद हैं। इसमें से 22 भरी और 3 (12%) खाली हैं। कुल 1362 पद हैं। इसमें से 792 भरी और 570 खाली हैं। इसी तरह नॉन टीचिंग में स्टेट स्कीम के तहत 3761 पोस्ट हैं। इसमें से 1502 भरी और 2259 (60.06%) खाली हैं। आईसीएआर के तहत 416 पोस्ट में से 385 भरी हुई। 31 (7.45%) खाली हैं। अन्य स्कीमों के तहत 67 में से 29 भरी हुई हैं। जबकि 38 (56.72%) खाली हैं। नॉन-टीचिंग में कुल 4244 पोस्टें हैं। इनमें से 1916 भरी हुई और 2268 (54.85%) पोस्ट खाली हैं।

^यूनिवर्सिटी में टीचिंग, रिसर्च और एक्सटेंशन पर काम किया जाता है। यूनिवर्सिटी के विभिन्न विभागों में टीचिंग स्टाफ की कमी के कारण एक टीचर को ज्यादा लेक्चर लेने पड़ते हैं। वहीं, रिसर्च में टीम की तरह काम करना होता है। जबकि स्टाफ की कमी के कारण ज्यादा लोग रिसर्च के साथ जुड़ नहीं पाते। यही स्थिति एक्सटेंशन सर्विस की बन जाती है। ये पद लंबे समय से खाली हैं। इन्हें भरने के लिए काम जरूर होना चाहिए।
-डॉ. एचएस किंगरा, प्रधान, पीएयू टीचर्स एसोसिएशन

^नॉन टीचिंग के कई पद खाली हैं। इससे टीचिंग और रिसर्च दोनों का काम प्रभावित होता है। लैब में लैब अटेंडेंट, असिस्टेंट और टेक्नीशियन होते हैं, मगर अब स्टाफ की कमी है। ऐसे में एक-एक व्यक्ति के पास दो-दो लैब का इंचार्ज है। इसी तरह की स्थिति स्टोर कीपर की है। जिनके पास दो-दो डिपार्टमेंट का चार्ज है। ऐसे में स्टाफ पर काम का ज्यादा बोझ रहता है।
-बलदेव वालिया, प्रधान, पीएयू इंप्लाइज यूनियन

^ये पद काफी समय से खाली हैं, लेकिन हम जरूरत के मुताबिक स्टाफ रख रहे हैं। 8-9 साल पहले यूनिवर्सिटी को पंजाब सरकार की ओर से सालाना 183 करोड़ के तकरीबन दिया जाता था, लेकिन अब वो फंड बढ़कर करीब 400 करोड़ हो गया है। इसमें से अधिकतर खर्च सैलरी, पेंशन में चला जाता है, लेकिन हम अपनी तरफ से कोशिश करते हैं कि हम स्टाफ की भर्ती करते रहें।
-डॉ. बलदेव सिंह ढिल्लों, वाइस चांसलर, पीएयू

आज का राशिफल

मेष
Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
मेष|Aries

पॉजिटिव- आज ऊर्जा तथा आत्मविश्वास से भरपूर दिन व्यतीत होगा। आप किसी मुश्किल काम को अपने परिश्रम द्वारा हल करने में सक्षम रहेंगे। अगर गाड़ी वगैरह खरीदने का विचार है, तो इस कार्य के लिए प्रबल योग बने हुए...

और पढ़ें

Open Dainik Bhaskar in...
  • Dainik Bhaskar App
  • BrowserBrowser