पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें
  • Hindi News
  • Local
  • Punjab
  • Ludhiana
  • Bhaini Sahib Academy Is Providing Free Football Coaching To The Children Of Needy Families From Foreign, Former Coach Of Team India

फुटबाॅल की कोचिंग शुरू:भैणी साहिब अकादमी जरूरतमंद परिवारों के बच्चों को विदेशी, टीम इंडिया के पूर्व कोच से दिला रही फुटबाॅल की फ्री कोचिंग

लुधियाना6 दिन पहलेलेखक: दिनेश वर्मा
  • कॉपी लिंक
7, 10, 14 और 16 साल के बच्चों के बैच बना ट्रेनिंग दी जाती है। - Dainik Bhaskar
7, 10, 14 और 16 साल के बच्चों के बैच बना ट्रेनिंग दी जाती है।
  • पहले सतगुरु जगजीत सिंह ने हॉकी, अब उन्हीं की तरह सतगुरु उदय सिंह तैयार कर रहे फुटबाॅल के खिलाड़ी

श्री भैणी साहिब अकादमी द्वारा तैयार किए गए खिलाड़ियों ने नेशनल और ओलंपिक खेलों में हॉकी में महारत हासिल की है। वहीं, अब इस अकादमी की तरफ से फुटबाॅल के लिए भी पंजाब के खिलाड़ियों को तैयार करना शुरू कर दिया है। श्री भैणी साहिब के प्रमुख सतगुरु उदय सिंह की अगुवाई में चल रही अकादमी में तीन साल पहले फुटबाॅल के लिए खिलाड़ियों को कोचिंग देने की शुरूआत हो चुकी है।

पंजाब के अलावा हरियाणा और मध्य प्रदेश के बच्चे भी ले रहे ट्रेनिंग, तीन साल पहले शुरू की शुरुआत, वर्तमान में 120 बच्चे कर रहे हैं प्रैक्टिस

अकादमी के इंचार्ज शेर सिंह ने बताया कि अकादमी में पंजाब के अलग-अलग जिलों के साथ साथ दूसरे राज्यों के भी जरूरतमंद परिवारों के बच्चों को यहां पर ट्रेनिंग के साथ-साथ रहना, खाना, कपड़ा और उच्चा शिक्षा भी मुफ्त दी जा रही है।

अकादमी में इस समय फुटबाॅल की कोचिंग 7 साल से लेकर 16 साल तक के जरूरतमंद परिवारों के बच्चों को कोचिंग दी जा रही है। इस समय 120 बच्चे ट्रेनिंग ले रहे हैं। बता दें कि सतगुरु जगजीत सिंह जी ने धर्म का प्रचार, युवाओं को नशे से दूर करने और देश का नाम रौशन करने के लिए सबसे पहले हॉकी खेल की शुरूआत अकादमी में शुरू की थी, यहां के खिलाड़ियों ने विदेशों में अकादमी समेत देश का नाम रौशन किया। बता दें कि जिले में स्पोर्ट्स विभाग की तरफ से अभी तक फुटबाॅल के लिए ऐसा कोई मैदान ही नहीं हैं।

शेर सिंह ने बताया कि यहां पर 7 साल के बच्चों, 10 साल, 14 साल और 16 साल के बच्चों के बैच बनाए गए हैं। जिनको सर्बिया के कोच मार्गो और टीम इंडिया के कोच रह चुके संतोष कश्यप कोचिंग दे रहे हैं।

उन्होंने बताया कि तीन साल हो चुके हैं फुटबाॅल की कोचिंग शुरू किए। इस दौरान दो खिलाड़ी अकादमी की तरफ से पंजाब टीम में सिलेक्ट भी हुए हैं और उनकी तरफ से कोविड-19 से पहले खेलों में हिस्सा लिया है।

उन्होंने बताया कि पंजाब के अलावा उनके पास मध्य प्रदेश और हरियाणा से भी बच्चे यहां पर आए हुए हैं, जिनको हाॅस्टल, उच्च शिक्षा, खाना-रहना, कपड़े के अलावा स्पोर्ट्स किटें भी अकादमी की तरफ से मुफ्त दी जा रही हैं।

यहां ये भी बता दें कि श्री भैणी साहिब अकादमी में हॉकी के खिलाड़ी प्रमोट भी किए गए हैं। आज सरकारी अदारों से लेकर बड़ी-बड़ी मल्टीनेशनल कंपनियों और विदेशों में यहां से शिक्षा और कोचिंग लेकर खेलों में भाग ले चुके खिलाड़ियों को अकादमी की तरफ से प्रमोट किया गया है।

जबकि भैणी साहिब अकादमी के खिलाड़ियों की तरफ से ओलंपिक से लेकर तीन बार कैल कप, कनाडा कप समेत कई प्रमुख इंटरनेशनल, नेशनल टूर्नामेंट्स जीते हैं। इससे श्री भैणी साहिब अकादमी का नाम विदेशों में भी प्रसिद्ध हुआ है।

खबरें और भी हैं...