पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

गैरजिम्मेदार:कैंप का नाम, नहीं हुआ काम, भटकते रहे दिव्यांग

लुधियाना7 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
  • दिव्यांगों के यूआईडी कार्ड बनाने के कैंप की बजाए सीएम मीटिंग की तैयारी में जुटा सेहत महकमा

सिविल अस्पताल में शुक्रवार को मजबूरी और बेबसी को दरकिनार कर सेहत महकमा सरकार को खुश करने की तैयारी में जुटा रहा। दरअसल गत दिनों सरकार की हिदायत पर ही जिला प्रशासन की फटकार के बाद दिव्यांगों के यूडीआईडी कार्ड बनाने को स्पेशल कैंप लगाया गया था। बाकायदा सिविल सर्जन डॉ.राजेश बग्गा ने जिलेभर में करीब 800 आंगनवाड़ी वर्करों को आदेश जारी किए थे कि हर वर्कर अपने साथ कम से कम पांच दिव्यांगों को कार्ड बनवाने के लिए अस्पताल लेकर आए।

गौर हो कि अगर आदेश माने जाते तो कम से कम 4 हजार विकलांग शुक्रवार को सिविल अस्पताल पहुंचते, मगर ऐसा नहीं हुआ। अगर ऐसा हो जाता तो दिव्यांगों के लिए लगा कैंप कामयाब साबित होता। हकीकत में इस स्पैशल कैंप की सिविल अस्पताल में कोई तैयारियां ही नहीं की गई थी। कैंप में न कोई स्पेशल काउंटर, न डाक्टरों की टीम और न ही रजिस्ट्रेशन के लिए कोई कंप्यूटर रेटर था। आम दिनों की तरह कार्ड बनवाने के लिए दिव्यांगों को धक्के खाने पड़े।

जबकि कइयों ने सुविधा सेंटर से ऑनलाइन अप्लाई नहीं किया था। जिस कारण उनको बिना कार्ड बनवाए ही वापस जाना पड़ा। कई दिनभर इधर-उधर भटकते रहे। सुबह 9 बजे से लेकर 3 बजे तक चले इस कैंप में केवल 80 दिव्यांग ही अपने कार्ड बनवा सके। जिसमें से 50 नए बनवाने तो 30 डिजिटल कराने के लिए आए थे।

आज है सीएम की वीसी: मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह ने शनिवार को पूरे पंजाब में हेल्थ सेंटरों की शुरुआत करनी है। ऑनलाइन वीसी के जरिए ही हर जिले के सेहत महकमे के अफसरों को वे संबोधित करेंगे। कैंप की बजाए इसकी तैयारियों पर सेहत विभाग ने पूरा जोर लगाए रखा।

कार्ड बनवाने के लिए ये है पड़ाव: जिस दिव्यांग को अपना यूडीआईडी कार्ड बनवाना होता है, उसको पहले सेवा केंद्र में ऑनलाइन अप्लाई करना होता है। उसके बाद सेवा केंद्र से मिली रसीद के साथ अपना आधार कार्ड व दो फोटो लगा आवेदक को सिविल अस्पताल की ओपीडी में स्पेशलिस्ट डाॅक्टर से अपनी डिसएबिलिटी चेक करानी होती है।

जांच के बाद डाॅक्टर फाॅर्म के ऊपर उक्त आवेदक की हाजिरी लिखते हैं। इसके बाद सेवा केंद्र व डाॅक्टर द्वारा मंजूरी वाले फाॅर्म सिविल अस्पताल के यूडीआईडी कार्ड बनाने को जमा करते हैं। वहां से 15 दिनों के बाद सेवा केंद्र से यां फिर सिविल अस्पताल से ही उक्त यूडीआईडी कार्ड का प्रिंट मिल जाता है।

दावा, तैयारियां थी दिव्यांगों के यूडीआईडी कार्ड बनाने के लिए कैंप लगाया गया। चाहे कहीं अलग से स्टॉल या अन्य अरेंजमेंट नहीं किया गया, फिर भी कैंप में डाॅक्टर व अन्य स्टाफ पूरी तरह तैयार रहे। ताकि किसी को भी परेशानी न हो।
-डॉ.राजेश बग्गा, सिविल सर्जन

आज का राशिफल

मेष
Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
मेष|Aries

पॉजिटिव- कुछ महत्वपूर्ण नए संपर्क स्थापित होंगे जो कि बहुत ही लाभदायक रहेंगे। अपने भविष्य संबंधी योजनाओं को मूर्तरूप देने का उचित समय है। कोई शुभ कार्य भी संपन्न होगा। इस समय आपको अपनी काबिलियत प्रदर्...

और पढ़ें