पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App
  • Hindi News
  • Local
  • Punjab
  • Chassis Of Other Vehicles, New RCs Made With Engine Numbers, Then Used To Sell Stolen Cars In Punjab

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

पर्चा दर्ज:दूसरे वाहनों के चैसी, इंजन नंबर लगा बनाते नई आरसी, फिर पंजाब में बेच देते थे चोरी की कारें

लुधियाना7 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
  • अंतरराज्यीय चोर गिरोह के 3 में से 2 मेंबर काबू, 6 कारें बरामद

लग्जरी कारें चोरी कर उन पर दूसरे वाहनों के असली रजिस्ट्रेशन, चैसी व इंजन नंबर लगाने वाले इंटर-स्टेट गैंग के तीन सदस्यों पर पर्चा दर्ज कर दो को काबू कर लिया। ये शातिर चोर कारों की आरसी बना उनको मॉडीफाई कर आगे बेचते थे। उनसे फिलहाल छह लग्जरी कारें बरामद हो चुकी हैं। थाना टिब्बा पुलिस ने आरोपियों दुगरी के अशोक कुमार, संगरूर के बलराज सिंह को अदालत में पेश कर 3 दिन का रिमांड लिया

है। जबकि वेस्ट बंगाल का राणा फरार है। डीसीपी एसएस चीमा और एसीपी सुरिंदर मोहन के मुताबिक सीआईए-2 की टीम ने टिब्बा रोड पर नाकाबंदी के दौरान शक होने पर स्कार्पियो कार रोकी। दस्तावेजों में दर्ज रंग की बजाए कार का कलर दूसरा था। पूछताछ में पता चला कि कार चोरी की थी। उन्होंने कारें चुराने, दस्तावेज बनाने व बेचने को तीन टीमें बना रखी थीं। एक टीम कारें चुरा वेस्ट बंगाल भेजती थी।

कार चोरी के बाद पश्चिम बंगाल में मॉडिफाई करने से लेकर बेचने का काम संभालती थीं 3 टीमें

वेस्ट बंगाल में आरोपी राणा कार का इंजन व चैसी नंबर मेल्ट कर बदलता था। फिर मॉडिफाई कर जाली नंबर प्लेट लगाते थे। कार तैयार होने के बाद आरोपी अंकुश व लवराज वहां जाकर कार लाने के बाद पंजाब के विभिन्न शहरों में बेचते थे। आरोपी चोरी की कार के मॉडल वाली दूसरी कार ढूंढते थे। हाईटेक सिस्टम का जानकार राणा उस कार के नंबर से सारी डिटेल निकाल उसका रजिस्ट्रेशन, चैसी व इंजन नंबर लेकर वेस्ट बंगाल में ही आरसी तैयार कराता था। फिर असली कार की ही नंबर प्लेट उस पर लगा आगे बेचते थे। आरोपी ज्यादातर कारें ऑनलाइन साइटों के जरिए बेचते थे।

ऑर्डर लेने के बाद चुराते थे कारें-ये गैंग पुरानी कार लेने के इच्छुक लोगों से ऑर्डर लेकर उनकी पसंदीदा कार चुराते थे। अंकुश व लवराज सिर्फ लग्जरी कारों की ही डील करते थे। गैंग ज्यादातर कारें यूपी, दिल्ली, एमपी व चंडीगढ़ से चुराता था। उनकी फोटो अंकुश ग्राहक को दिखाता था। फिर राणा कार मॉडीफाई कर दोबारा फोटो भेज फाइनल कराता था।

अंकुश व लवराज दुगरी में कारों के सेल-परचेज ऑफिस में काम करते थे। एक साल तक काम की पूरी जानकारी होने के बाद पिछले साल उन्होंने कारें चुराना शुरू कीं। वे चोरीशुदा कारें भी 2-3 लाख रुपये में खरीद मॉडीफाई कर पांच गुनी महंगी तक बेच देते थे। खुद को नौकर व राणा को मालिक बता उसके अकाउंट में पैसे ट्रांसफर करा उसके तीन हिस्से करते थे। दोनों राणा से कोलकाता में डील करते थे। वहां कई बार प्लेन से जाते थे। आरोपियों से पता चला है कि उन्होंने छह कारें बेची थी, जिसे लेकर पुलिस पूछताछ कर रही है।

आज का राशिफल

मेष
Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
मेष|Aries

पॉजिटिव- आज परिस्थितियां अति अनुकूल है। कार्य आसानी से संपन्न होंगे। आपका अधिकतर ध्यान स्वयं के ऊपर केंद्रित रहेगा। अपने भावी लक्ष्यों के प्रति मेहनत तथा सुनियोजित ढंग से कार्य करने से काफी हद तक सफलत...

और पढ़ें

Open Dainik Bhaskar in...

  • Dainik Bhaskar App
  • BrowserBrowser