• Hindi News
  • Local
  • Punjab
  • Ludhiana
  • Claimed To Have Received Medicine In 15 Days In June, Received In September, 168 Cases Of Dengue Have Come Till Then

डेंगू का प्रकोप:जून में किया 15 दिन में दवा आने का दावा, मिली सितंबर में, तब तक डेंगू के आ चुके 168 केस

लुधियाना2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
ग्यासपुरा पार्क में जमा पानी से बीमारी फैलने का खतरा। - Dainik Bhaskar
ग्यासपुरा पार्क में जमा पानी से बीमारी फैलने का खतरा।

नगर निगम की लापरवाही का ही नतीजा है कि दिन प्रतिदिन जिले में डेंगू के केस बढ़ रहे हैं। इसी साल फरवरी में डेंगू से बचाव के लिए छिड़कने वाली दवा के एक्सपायर होने पर वापस मंगाने में निगम ने 7 महीने का समय लगा दिया। गौर हो कि 16 जून को दैनिक भास्कर द्वारा ये खुलासा किया गया था कि 6250 किग्रा दवाई फरवरी में एक्सपायर हो गई थी। जिसके बारे में पूछने पर निगम अधिकारियों ने जून में 15 दिनों में ही इसे मंगवाने की बात कही थी। लेकिन जुलाई व अगस्त का महीना बीतने के बाद सितंबर के पहले हफ्ते में दवाई आई है। गौरतलब है कि डेंगू से बचाव के लिए मेलाथिओन दवा को तेल के साथ मिलाकर छिड़काव किया जाता है। ताकि डेंगू का लारवा और मच्छर मर सकें। नियम के अनुसार मॉनसून का सीजन शुरू होने पर ही छिड़काव शुरू कर दिया जाता है। जिससे कि बारिश के सीजन में मच्छर न पनपे और डेंगू से बचाव हो सके।

समय पर शुरू होती फॉगिंग तो न बढ़ते केस, 16 जून तक जिले में डेंगू का था महज एक मरी

देरी का नतीजा ये रहा है कि जून में जहां जिले में डेंगू का महज 1 केस था। अब 168 केस हो चुके हैं। जबकि लुधियाना के कुल 94 मरीज अब तक मिल चुके हैं। वो भी 103 नए मरीज तो सितंबर के 16 दिनों में ही आ चुके हैं। इनमें से 61 मरीज लुधियाना से संबंधित हैं। वहीं, सेहत विभाग में आबादी के मुताबिक बेहद कम एंटी लारवा टीमें ही पिछले कई सालों से काम कर रही हैं।

जिन्हें अभी तक नहीं बढ़ाया गया। सेहत विभाग में 18 एंटी लारवा टीमें, 19 ब्रीडर काम कर रहे हैं जो घर-घर जाकर सर्वे कर लारवा मिलने पर नष्ट करती हैं। 10 सिंतबर तक 55369 घरों की जांच के अलावा 107889 कंटेनर्स की जांच हुई है। अभी तक मिले केसेस में से 94 मरीज 32 इलाकों से संबंधित हैं।

इस महीने मिली दवा, 15 दिनों में 940 लीटर दवाई का हुआ छिड़काव

निगम को इसी महीने एक्सपायर हुई 6250 किग्रा. दवाई के बदले नई दवाई 6250 किग्रा. मिली है। निगम के पास 12 बड़ी मशीनें हैं। जिन्हें 95 वॉर्ड में फॉगिंग के लिए इस्तेमाल किया जाता है। महज 12 ही मशीनें होने के कारण एक हफ्ते बाद एक वॉर्ड की बारी आती है। रोजाना एक मशीन को 1 घंटे 7 मिनट के लिए चलाया जाता है। जबकि 95 वॉर्ड के लिए 105 छोटी हैंड मशीनें हैं। जो रोज 15-20 मिनट के लिए चलती हैं। 15 दिनों के दौरान 940 लीटर दवाई का छिड़काव हुआ है।

इधर: डेंगू के 6 नए मरीज, 2 लुधियाना के

वीरवार को जिले में डेंगू के 6 नए मरीज मिले हैं। इनमें से 2 लुधियाना के हैं। जबकि 4 बाहरी जिलों व राज्यों के हैं। अब तक 1105 शकी मरीजों में से 168 की रिपोर्ट पॉजिटिव मिली है। लुधियाना के 1023 शकी मरीजों में से 94 कंफर्म केस हैं। अन्य जिलों के 66 शकी मरीजों में से 58 कंफर्म और अन्य राज्यों के 16 शकी में से 16 ही कंफर्म केस हैं।

खबरें और भी हैं...