BSF के अधिकार क्षेत्र को लेकर कैप्टन और सुरजेवाला आमने-सामने:कांग्रेस महासचिव ने पूछा, अमरिंदर ने CM रहते ऐसी मांग क्यों नहीं की, कैप्टन बोले- चुनाव हारने वालों को राष्ट्रीय मुद्दों पर बोलने का हक नहीं

लुधियाना7 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
कैप्टन अमरिंदर सिंह। फाइल फोटो - Dainik Bhaskar
कैप्टन अमरिंदर सिंह। फाइल फोटो

बार्डर सिक्योरिटी फोर्स (बीएसएफ) को सीमा के 50 किलोमीटर के दायरे में आने वाले इलाकों में कार्रवाई का अधिकार देने के मामले में अब कांग्रेस महासचिव रणदीप सुरजेवाला और पंजाब के पूर्व सीएम कैप्टन अमरिंदर सिंह आमने सामने आ गए हैं। रणदीप सिंह सुरजेवाला ने कहा कि कैप्टन अमरिंदर सिंह जब पंजाब के मुख्यमंत्री थे, उस समय उन्होंने बीएसएफ के अधिकार क्षेत्र को 15 किलोमीटर से बढ़ाकर 50 किलोमीटर करने के बारे में केद्र को क्यों नहीं लिखा।

रवीन ठुकराल की तरफ से किया गया ट्वीट
रवीन ठुकराल की तरफ से किया गया ट्वीट

इसके जवाब में कैप्टन अमरिंदर सिंह के मीडिया सलाहकार रवीन ठुकराल ने ट्वीट किया। ठुकराल ने कैप्टन अमरिंदर सिंह की तरफ से कहा कि कितनी बेहुदा बात है। क्या मैं भारत के गृह मंत्रालय को आदेश देता हूं और न सिर्फ पंजाब बल्कि गुजरात, पश्चिम बंगाल, असम में भी मेरे फैसले चलते हैं। एक व्यक्ति जो अपने ही राज्य में चुनाव नहीं जीत सका है, उसे राष्ट्रीय मुद्दों पर बोलने का कोई अधिकार नहीं है। यही नहीं परगट सिंह द्वारा कैप्टन अमरिंदर सिंह के बीजेपी से मिले होने और राष्ट्रपति शासन लगवाने के बयान का भी जवाब दिया है। उन्होंने कहा कि आप (परगट सिंह) और नवजोत सिद्धू एक जैसे हैं और सस्ते प्रचार के लिए हास्यपद कहानियां बनाने के माहिर हैं।

बीएसएफ के अधिकार बढ़ाने के मुद्दे पर निशाने पर हैं कैप्टन
बीएसएफ के अधिकार बढ़ाने के फैसले का समर्थन करने के बाद कैप्टन अमरिंदर सिंह कांग्रेस समेत सभी राजनीतिक दलों के निशाने पर हैं। कांग्रेस के परगट सिंह, रजिंदर कौर भट्ठल आदि ने उनकी मंशा पर सवाल खड़ा किया। जब रणदीप सुरजेवाला ने इस पर सवाल खड़ा किया तो उनकी तरफ से इसका जवाब भी दिया गया। उन पर लगातार सभी नेताओं की तरफ से सवाल उठाए जा रहे हैं।

खबरें और भी हैं...