बुड्‌ढा नाला माॅनिटरिंग कमेटी की मीटिंग:निगम कमिश्नर ने पूछा, कितनी डेयरियां हैं, पेडा अफसर ने 500 तो पीपीसीबी ने बताईं 1 हजार

लुधियाना3 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
बुड्‌ढा नाला 650 करोड़ कायाकल्प प्रोजेक्ट को लेकर बनी मॉनिटरिंग कमेटी की मीटिंग नई चेयरमैन व निगम कमिश्नर शेना अग्रवाल ने ली। - Dainik Bhaskar
बुड्‌ढा नाला 650 करोड़ कायाकल्प प्रोजेक्ट को लेकर बनी मॉनिटरिंग कमेटी की मीटिंग नई चेयरमैन व निगम कमिश्नर शेना अग्रवाल ने ली।

बुड्‌ढा नाला 650 करोड़ कायाकल्प प्रोजेक्ट को लेकर बनी मॉनिटरिंग कमेटी की मीटिंग नई चेयरमैन व निगम कमिश्नर शेना अग्रवाल ने ली। इस दौरान प्रोजेक्ट को लेकर रिव्यू किया गया। बाद में चल रहे कामों का भी मौका देखा। इस दौरान जब कमिश्नर ने मीटिंग की तो उसमें सामने आईं खामियां दूर करने के लिए आदेश जारी किए। वहीं, डेयरियों को लेकर पीपीसीबी और पेडा का डाटा ही मैच नहीं हुआ। इस पर कमिश्नर ने दोनों महकमों के अफसरों को प्रोजेक्ट में गंभीरता दिखाने और शुक्रवार को दोबारा जानकारी लेकर आने को आदेश दिए।

इस दौरान निगम कमिश्नर ने ताजपुर रोड और हंबड़ां रोड की डेयरियों के बारे में पूछा तो पीपीसीबी ने 1000 तो पेडा ने 500 डेयरियां होने की बात कही। अब दोनों को सही डाटा पेशकर काम करने के आदेश दिए। इस दौरान पीपीसीबी, सीवरेज बोर्ड, पेडा, पावरकॉम, निगम समेत अन्य अधिकारियों की मौजूदगी रही।

अब शिफ्ट नहीं होंगी डेयरियां, गोबर गैस प्लांट और ईटीपी लगाने के आदेश
मीटिंग में ये बात स्पष्ट की गई कि अब डेयरियां शिफ्ट नहीं होंगी। ताजपुर रोड पर नया बायो गैस प्लांट लगाने के लिए टेंडर 27 मई को खुलेंगे। इसके अलावा ताजपुर रोड और हंबड़ां रोड पर डेयरियों की जगह पर ईटीपी प्लांट के लिए सॉयल टेस्टिंग का काम पूरा हो चुका है और प्लांट लगाने के लिए टेंडर जल्द लगाने के लिए आदेश दिए गए। इस काम की जिम्मेदारी पेडा अधिकारियों को सौंपी गई। बता दें कि डेयरियां शिफ्टिंग न होने और इसका गोबर लगातार नाले में गिरने से एसटीपी फेल हो चुके हैं। ऐसे में अब नए बन रहे हैं। इनके चलने से पहले गोबर का गिरना बंद करवाना जरूरी है।

डाइंग यूनिटों के कनेक्शनों का होगा सर्वे
निगम कमिश्नर ने मीटिंग में पूछा कि डाइंग यूनिटों के लिए सीईटीपी प्लांट बन चुके हैं। इनके प्लांट की चेकिंग भी की जाए कि इसमें पानी कितना ट्रीट हो रहा है। इसकी मॉनिटरिंग भी की जाए। इसके अलावा सभी डाइंग यूनिटों का सर्वे करने के लिए टीमें बनाने के लिए कहा है। ओएंडएम ब्रांच के एसई राजिंदर सिंह को आदेश जारी हुए कि वह सर्वे करवाकर ये पता करें कि क्या सभी डाइंग यूनिटों के कनेक्शन सीईटीपी से जुड़ चुके हैं।

जिनके नहीं जुड़े, उनका पानी किसी भी कीमत पर सीवरेज में नहीं जाना चाहिए। इसके अलावा बुड्ढे नाले के किनारे प्राइवेट जमीन प्रोजेक्ट में रुकावट बन रही है। इसे एक्वायर करने के लिए बिल्डिंग ब्रांच के एसटीपी की ड्यूटी लगाई है कि मामले को तुरंत सुलझाया जाए, ताकि प्रोजेक्ट में कोई बाधा न आए।​​​​​​​

एसटीपी नवंबर तक चलाने पर जोर
225 एमएलडी का नया एसटीपी जमालपुर में बन रहा है। इसे नवंबर तक चलाने पर जोर दिया जा रहा है। इसी तहत निगम कमिश्नर मीटिंग में मौजूद पावरकॉम अफसरों को एसटीपी की साइट पर 66 केवी का सब-स्टेशन लगाने के लिए कहा है। उनकी तरफ से 99 साल के लिए जमीन लीज पर दी जाएगी।

इस काम को पावरकॉम की तरफ से हर हाल में नवंबर से पहले पूरा करने के लिए कहा है। निगम कमिश्नर ने पावरकॉम अफसरों से स्पष्ट कहा कि वह पावरकॉम ने किसी तरह की रुकावट नहीं चाहते। इसलिए कार्य को समय रहते पूरा किया जाए।

खबरें और भी हैं...