पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

बड़ी परेशानी:अपराधियों की स्क्रीनिंग में गड़बड़ी, जेल में पहुंच हो रहे संक्रमित, अब तक 100 मामले

लुधियाना3 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
  • दो दिन में ब्रोस्टल-सेंट्रल जेल से 70 पाॅजिटिव, प्रबंधन के लिए आफत

सोमवार को 47 हवालाती पॉजिटिव आने के बाद मंगलवार को 23 और बंदी पॉजिटिव आ गए। इसके बाद जेल प्रबंधन में अफरा-तफरी मच गई। हालात ये हैं कि मुलाजिम ड्यूटी करने से भी कतराने लगे हैं, क्योंकि कोरोना पैर पसार रहा है। अगर कहीं मुलाजिमों तक ये संक्रमण पहुंच गया तो जेल के हालात खराब होने में ज्यादा समय नहीं लगेगा।

इन सब का एकाएक कारण है कि पुलिस और सेहत महकमे की ओर से आरोपियों की स्क्रीनिंग सही ढंग से न करवाकर जेल भेजा जा रहा है, जोकि बाकियों के लिए भी घातक साबित हो रहें है। आंकड़ों की बात करें तो जेल में महज 250 मुलाजिम हैं, जोकि करीब 1400 कैदियों की देखरेख, सिक्योरिटी से लेकर क्लेरिकल विभाग को भी देखते हैं। हालांकि अपराधियों को स्पेशल जेल में ले जाया जाता है, लेकिन स्क्रीनिंग सही ढंग से न होने की वजह से इनके लक्ष्ण जेल में पहुंचने के बाद नजर आने लगते हैं।

रिपोर्ट आने से पहले जेल पहुंच जाते हैं अपराधी

थानों के हालात तो पहले से ही खराब हैं। जहां 300 से ज्यादा मुलाजिम प्रभावित हैं। ऐसे में अगर किसी अपराधी को पकड़ा जाता है तो उनके रिमांड की मांग ही नहीं की जाती। उनका मेडिकल अस्पताल में करवाने के बाद सीधा स्पेशल जेल भेज दिया जाता है। चार दिन बाद जब रिपोर्ट आती है तो पता चलता है अपराधी पॉजिटिव है, लेकिन तब तक जेल में पहुंचकर वो कई को प्रभावित कर चुका होती है। पिछले 2 दिनों में 70 पॉजिटिव आने का कारण यही है। सूत्र बताते हैं कि कई अपराधियों की तो स्क्रीनिंग भी नहीं करवाई जाती, उनके बारे में पॉजिटिव आने पर पता चलता है।

जेल विभाग के पास मुलाजिमों का टोटा

स्पेशल जेल में 15 दिन तक क्वारेंटाइन होने के बाद हवालातियों को सेंट्रल जेल में भेजा जाता है, लेकिन वो वहां पहुंचकर संक्रमित हो रहे, सोमवार को तीन हवालाती सेंट्रल जेल के थे, जो पॉजिटिव आए। जोकि उस समय पॉजिटिव के संपर्क में आए, जब क्वारेंटाइन खत्म हो गया। इससे कई मुलाजिम भी प्रभावित हुए। जोकि ज्यादा खतरनाक साबित हो रहा है, क्योंकि जेल विभाग के पास पहले ही पर्याप्त मुलाजिम नहीं।

हवालाती संक्रमित न हों, इसलिए उसे पहले स्पेशल जेल में रखा जाता है, लेकिन इसमें भी दिक्कत है कि बिना रिपोर्ट के हवालाती जेल में भेज दिया जाता है, जोकि बाद में संक्रमित निकलता है और परेशानी होती है, लेकिन हमारी तरफ से पूरे प्रबंध किए गए हैं, जो संक्रमित हुए है वो रिकवरी कर रहे हैं।-राजीव अरोड़ा, जेल सुपरिंटेंडेंट

आज का राशिफल

मेष
Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
मेष|Aries

पॉजिटिव- आज किसी समाज सेवी संस्था अथवा किसी प्रिय मित्र की सहायता में समय व्यतीत होगा। धार्मिक तथा आध्यात्मिक कामों में भी आपकी रुचि रहेगी। युवा वर्ग अपनी मेहनत के अनुरूप शुभ परिणाम हासिल करेंगे। तथा ...

और पढ़ें