ट्रांसपोर्टर्स पर परिवहन विभाग की कार्रवाई जारी:टैक्स माफी की मांग नामंजूर; परिवहन मंत्री के निशाने पर बस ऑपरेटर, अब शिरोमणि अकाली दल की 13 गाड़ियां जब्त

लुधियाना10 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
निजी ट्रांसपोर्ट की बस पर कार्रवाई करते हुए परिवहन विभाग के अधिकारी। - Dainik Bhaskar
निजी ट्रांसपोर्ट की बस पर कार्रवाई करते हुए परिवहन विभाग के अधिकारी।

पंजाब परिवहन मंत्री अमरिंदर सिंह राजा वड़िंग ट्रांसपोर्टर्स की एक भी बात सुनने के लिए तैयार नहीं हैं। इसलिए टैक्स नहीं भरने वाली ट्रांसपोर्ट की बसें बंद नहीं की जा रही हैं, जबकि वह टैक्स माफी मांग पिछले लंबे समय से कर रहे हैं। परिवहन मंत्री की ओर से लगातार बसों को बंद किया जा रहा है और हाल ही में कार्रवाई करते हुए 13 निजी बसों को बंद भी कर दिया है। परिवहन विभाग के अधिकारियों द्वारा नियमों का उल्लंघन करने पर न्यू दीप की 5 बसें और ऑर्बिट, ट्रैवल प्वाइंट, आरएस यादव, लिबड़ा, नागपाल, डब्बवाली, गुरु नानक और नॉर्दर्न की एक-एक बस को जब्त कर लिया गया है। यह सभी बसें शिरोमणि अकाली दल बादल से संबंधित ट्रांसपोटर्स की हैं।

वहीं परिवहन मंत्री अमरिंदर सिंह राजा वड़िंग का कहना है कि चेकिंग की मुहिम तब तक जारी रहेगी, जब तक गैर-कानूनी ढंग से चलने वाली हर बस सड़कों से उतर नहीं जाती। इसके पीछे का मकसद राज्य के परिवहन क्षेत्र को पटरी पर लाना है। इसलिए टैक्स चोरी करने वाले निजी बस ऑपरेटरों पर नकेल कसने के सख्त निर्देश जारी किए गए हैं। वहीं टैक्स चोरी करने वाले निजी बस ऑपरेटरों को सचेत भी कर दिया गया है कि वह अपना बनता टैक्स जल्द से जल्द भर दें और वाहन के कागज़ात पूरे कर लें। नहीं ताे किसी भी टैक्स चोर को किसी भी कीमत पर बख्शा नहीं जाएगा। उसके खिलाफ कड़ी से कड़ी कार्रवाई की जाएगी।

निजी ट्रांसपोर्ट कंपनी की बस पर कार्रवाई करते हुए परिवहन विभाग के अधिकारी।
निजी ट्रांसपोर्ट कंपनी की बस पर कार्रवाई करते हुए परिवहन विभाग के अधिकारी।

कोरोना काल में हुआ नुकसान, टैक्स माफी मांग रहे ट्रांसपोर्टर

ट्रांसपोर्टरों का कहना है कि कोरोना काल के दौरान ट्रांसपोर्ट चला ही नहीं। इस वजह से उन्हें लाखों का नहीं, बल्कि करोड़ों रुपए का घाटा हुआ है, जिस कारण वह काफी परेशान हैं। ट्रांसपोर्टरों का एक शिष्टमंडल पूर्व मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह को मिला था और मांग की थी कि कोरोना की मार और महिला सवारियों को सरकारी बसों में सफर निशुल्क कर देने से उन्हें काफी बड़ा घाटा पड़ा है। जिस कारण वह चाहते हैं कि सरकार उन्हें कोई न कोई राहत जरूर दें। यही नहीं इसी नुकसान के कारण ही उनकी ओर से टैक्स अदा नहीं किया गया है। लेकिन पहले वह टैक्स देते आए हैं और अब सरकार उनके साथ ज्यादती कर रही है।

विरोधी पार्टियों को ही क्यों बनाया जा रहा निशाना: ढिल्लों

न्यू दीप ट्रांसपोर्ट के संचालक हरदीप सिंह डिंपी ढिल्लों का कहना है कि सरकार को ज्ञापन सौंपने के कारण ही उनकी ओर से टैक्स नहीं भरा गया था। पूरे पंजाब के ट्रांसपोर्टरों की तरफ से टैक्स अदा नहीं किया गया है। मगर निशाना बादल परिवार या उनसे संबंध रखने वाले ट्रांसपोर्टरों को ही टारगेट बनाया जा रहा है। परिवहन मंत्री ने अभी तक एक भी बस कांग्रेस से संबंधित ट्रांसपोर्टर की बंद नहीं की है। इस कारण उनकी कार्रवाई सवालों के घेरे में है। क्या मंत्री इसका जवाब दे सकते हैं?

लगातार कार्रवाई कर रहे हैं राजा वड़िंग

अमरिंदर सिंह राजा वड़िंग के तेवर ट्रांसपोर्टरों के खिलाफ पहले दिन से ही देखने को मिले थे। उनकी ओर से पहली मीटिंग में ही टैक्स नहीं भरने वालों के खिलाफ कार्रवाई करने के आदेश दे दिए थे। अब तक वह 80 के करीब बसों पर कार्रवाई कर चुके हैं और यह लगातार जारी है। उनकी ओर से जिला वाइज टीमें बनाई गई हैं और यह टीमें लगातार बसों को सड़कों पर रोककर तलाशी अभियान चला रही हैं।

खबरें और भी हैं...