डिप्टी CM रंधावा ने यूपी के थाने में किया डिनर:लखीमपुर जाते समय पुलिस ने बॉर्डर पर रोका तो वहीं देने लगे धरना, हिरासत में लेने पर सीएम चन्नी बोले- UP सरकार कर रही अत्याचार

लुधियाना9 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
उप मुख्यमंत्री सुखजिंदर रंधावा सहरानपुर के सरसावां पुलिस थाने में खाना खाते हुए। - Dainik Bhaskar
उप मुख्यमंत्री सुखजिंदर रंधावा सहरानपुर के सरसावां पुलिस थाने में खाना खाते हुए।

पंजाब के उप मुख्यमंत्री सुखजिंदर रंधावा को लखीमपुर जाते समय यूपी पुलिस ने हिरासत में ले लिया। उन्हें सहरानपुर के सरसावां पुलिस थाने में रखा गया है। उन्होंने देर शाम वहीं पर खाना आया और लखीमपुर जाने की अपनी बात पर अड़े हुए हैं। पुलिस ने उन्हें हिरासत में ही रखा हुआ है। वहीं पंजाब के सीएम चरणजीत चन्नी ने रंधावा और अन्य विधायकों को हिरासत में लेने और उन्हें लखीमपुर न जाने देने की कड़े शब्दों में निंदा की। उन्होंने कहा, यूपी सरकार अत्याचार कर रही है।

इससे पहले सोमवार को योगी सरकार ने चन्नी और रंधावा के हेलिकॉप्टर को लखनऊ में लैंडिंग की परमिशन नहीं दी थी। जिसके बाद रंधावा कुछ विधायकों के साथ सड़क मार्ग से लखीमपुर के लिए रवाना हुए। जैसे ही उनका काफिला यमुनानगर से सहारनपुर में दाखिल हुआ तो यूपी पुलिस ने उन्हें बॉर्डर पर ही रोक लिया।

सरसावां पुलिस थाने में खाना खाते डिप्टी सीएम सुखजिंदर रंधावा।
सरसावां पुलिस थाने में खाना खाते डिप्टी सीएम सुखजिंदर रंधावा।

उन्हें आगे जाने की इजाजत नहीं दी। इसके बाद रंधावा और अन्य विधायकों ने लखीमपुर में हुई घटना के खिलाफ वहीं बैठकर प्रदर्शन करना शुरू कर दिया। केंद्र और राज्य सरकार के खिलाफ नारेबाजी करने लगे। मामला बढ़ता देख पुलिस ने रंधावा, विधायक कुलबीर जीरा और अंगद सैनी को हिरासत में ले लिया।

सुखजिंदर रंधावा को हिरासत में लेते समय विधायकों और पुलिस की जमकर धक्कमुक्की हुई।
सुखजिंदर रंधावा को हिरासत में लेते समय विधायकों और पुलिस की जमकर धक्कमुक्की हुई।

पंजाब से आने वालों पर लगाई गई है पाबंदी
उत्तर प्रदेश सरकार ने पंजाब के गृह विभाग को पत्र लिखकर अपील की थी कि वह पंजाब के लोगों को यूपी में नहीं आने दें। इसके बाद उप मुख्यमंत्री सुखजिंदर सिंह रंधावा ने उत्तर प्रदेश की राजधानी लखनऊ में हेलिकॉप्टर उतारने की मांग की थी। मगर इसकी इजाजत नहीं दी गई। बाद में मुख्यमंत्री ने इसकी इजाजत मांगी, तो उन्हें भी इनकार कर दिया गया।

मुख्यमंत्री चरणजीत चन्नी ने यूपी सरकार की निंदा की है।
मुख्यमंत्री चरणजीत चन्नी ने यूपी सरकार की निंदा की है।

मुख्यमंत्री चरणजीत चन्नी ने कहा- यूपी सरकार कर रही अत्याचार
पंजाब के मुख्यमंत्री चरणजीत चन्नी ने सुखजिंदर रंधावा और विधायकों को हिरासत में लिए जाने की कड़े शब्दों में निंदा की है। उन्होंने ट्वीट कर कहा कि लखीमपुर घटना के पीड़ित परिवारों से मिलने के लिए कांग्रेस नेताओं को यूपी में प्रवेश करने की अनुमति क्यों नहीं दी जा रही है? हमारे डिप्टी सीएम सुखजिंदर रंधाना और विधायकों को यूपी-हरियाणा बॉर्डर पर हिरासत में लिया गया। मैं यूपी सरकार द्वारा किए जा रहे इस तरह के अत्याचार की निंदा करता हूं।

हिरासत में लिए जाने के बाद सुखजिंदर रंधावा द्वारा किया गया ट्वीट।
हिरासत में लिए जाने के बाद सुखजिंदर रंधावा द्वारा किया गया ट्वीट।

हिरासत में लिए जाने के बाद रंधावा का ट्वीट, मोदी सरकार पर साधा निशाना
हिरासत में लिए जाने के बाद रंधावा की ओर से एक ट्वीट किया गया है, जिसमें उन्होंने लिखा कि लखीमपुर घटना के दोषी के बाप-बेटे को गिरफ्तार करने की जगह केंद्र की मोदी सरकार खुलेआम उन लोगों की गिरफ्तारी पर जोर दे रही है, जो शांति से इंसाफ की मांग कर रहे हैं। इस ट्वीट में उन्होंने पंजाब के सीएम चरणजीत चन्नी को भी टैग किया है।

लखीमपुर रवाना होने से पहले साथी विधायकों के साथ सुखजिंदर रंधावा।
लखीमपुर रवाना होने से पहले साथी विधायकों के साथ सुखजिंदर रंधावा।

प्रियंका गांधी को हरगांव बॉर्डर पर हिरासत में लिया
लखीमपुर में रविवार को हुई हिंसा में 9 लोगों की मौत मामले में पुलिस ने केंद्रीय मंत्री अजय मिश्र के बेटे आशीष समेत 14 के खिलाफ हत्या का मामला दर्ज कर लिया है। लेकिन इस मामले में सियासत पूरे उफान पर है। इससे पहले देर रात मृतकों के परिवारों से मिलने के लिए कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी दिल्ली से लखनऊ पहुंच गईं। फिर वे लखीमपुर के लिए रवाना हुईं, लेकिन सुबह 5:30 बजे प्रियंका गांधी को पुलिस ने सीतापुर जिले में हरगांव बॉर्डर पर हिरासत में ले लिया। प्रियंका रूट बदलकर पुलिस की नजरों से बचते हुए लखीमपुर जा रही थीं। उन्हें पीएसी गेस्ट हाउस ले जाया गया। इस दौरान उनका गेस्ट हाउस में झाड़ू लगाते हुए वीडियो भी सामने आया।

खबरें और भी हैं...