कोरोना संक्रमित होने पर भी दे सकेंगे वोट:लुधियाना जिला प्रशासन घर पहुंचाएगा बैलेट पेपर, 80 या इससे ऊपर के बुजुर्गों को भी मिलेगी सुविधा

लुधियाना9 दिन पहले
  • कॉपी लिंक

पंजाब में कोरोना केस बढ़ते जा रहे हैं। इस बीच 14 फरवरी को विधानसभा चुनाव मतदान है। वहीं कोरोना संक्रमित मरीज आइसोलेट होने के कारण चुनाव केंद्र तक नहीं आ पाएंगे। इसलिए लुधियाना जिला प्रशासन कोरोना मरीजों का वोट बैलेट पेपर के जरिए डलवाएगा। जिला प्रशासन की तरफ से इसकी व्यवस्था कर ली गई है। जिला चुनाव अधिकारी कम डिप्टी कमिश्नर वरिंदर कुमार शर्मा के अनुसार, 21 जनवरी तक नामांकन पत्र भरने का समय है। 21 जनवरी के बाद वह लोग जो पोलिंग स्टेशन तक नहीं आ सकते हैं, वह पोस्टल पेपर से वोट डालने के लिए अपने बीएलओ के पास अप्लाई कर सकते हैं।

31 जनवरी के बाद जब सभी उम्मीदवारों की लिस्ट तैयार होगी तो जरूरत के अनुसार बेल्ट पेपर बनवाए जाएंगे। चुनाव से एक दिन पहले या फिर बाद में बीएलओ कोरोना पॉजिटिव मरीज के घर जाकर सीलबंद बैलेट पेपर से मतदान करवाएगा। यही सुविधा 80 साल या इससे अधिक उम्र के बुजुर्गों को भी दी जाएगी। इस बार चुनाव विभाग की तरफ से पोलिंग स्टेशन पर गलव्ज, सैनिटाइजर और मास्क का भी प्रबंध किया जाएगा। पोलिंग स्टेशन पर तापमान भी चैक किया जाएगा। अगर किसी व्यक्ति को बुखार आता है तो उसे पर्ची दे दी जाएगी और वह पोलिंग के आखिरी घंटे में ही वोट दे सकेगा।

फरवरी में पीक पर होगा कोरोना
पिछले साल भी जनवरी की शुरुआत में मरीजों की संख्या बढ़ने लगी थी और फरवरी मध्य में कोरोना मरीजों की संख्या पीक पर थी। इसी माह सबसे ज्यादा मौतें भी हुई थीं। यही कारण है कि इस बार जिला प्रशासन की तरफ से चुनाव मतदान को लेकर विशेष तरह के प्रबंध किए गए हैं।

रोजाना 800 के आसपास मरीज
इस समय रोजाना कोरोना के 800 के आसपास मरीज मिल रहे हैं और यह संख्या लगातार बढ़ रही है। राहत की बात यह भी है कि मरीजों को अस्पताल में दाखिल नहीं करवाना पड़ रहा है। हाल में 4200 के आसपास कोरोना के एक्टिव मरीज हैं और इनमें से 80 फीसदी घर पर ही आइसोलेट हैं।

खबरें और भी हैं...