सुखबीर बादल के करीबी विधायक पर IT की रेड:लुधियाना में अयाली के ठिकानों पर 14 घंटे से जांच जारी, शहर में 'सन-व्यू' के 6 दफ्तरों पर भी सर्च

लुधियानाएक वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक

पंजाब में लुधियाना जिले की दाखा विधानसभा सीट से शिरोमणि अकाली दल के विधायक मनप्रीत सिंह अयाली के घर मंगलवार सुबह 6 बजे इनकम टैक्स विभाग ने रेड की। अकाली एमएलए के 6 ठिकानों पर इनकम टैक्स विभाग की जांच देर रात तक चलती रही। इनमें उनका अयाली गांव स्थित पैतृक घर, राजनीतिक कार्यालय, फार्म हाउस, अपार्टमेंट और उनके द्वारा डवलप रेजिडेंशियल कॉलोनियों के दफ्तर शामिल रहे। सूत्रों के अनुसार, अधिकारी मनप्रीत सिंह अयाली से उनके बिजनेस के बारे में जानकारियां ले रहे हैं। इनकम टैक्स की यह कार्रवाई अगले एक-दो दिन तक चल सकती है।

मनप्रीत सिंह अयाली और उनके परिवार के पास 100 एकड़ से ज्यादा पुश्तैनी जमीन है। उनका परिवार लुधियाना सिटी में बड़े स्तर पर रेजिडेंशियल कॉलोनियां डवलप करने के साथ-साथ अपार्टमेंट भी बनाता है। इनकम टैक्स महकमा इन बिजनेस के कागजातों की जांच कर रहा है। विभागीय अधिकारी इस रेड के बारे में कुछ भी बोलने को तैयार नहीं हैं।

अयाली के घर हुई रेड में इनकम टैक्स के झारखंड, यूपी और दूसरे राज्यों के तकरीबन 70 अधिकारी और कर्मचारी शामिल हैं। सीआरपीएफ के जवानों के साथ इनकम टैक्स की अलग-अलग टीमें मंगलवार सुबह अयाली के ठिकानों पर पहुंची और उनकी कार्रवाई 14 घंटे बाद यानि रात साढ़े 8 बजे तक चलती रही। इन 14 घंटों में छापेमारी वाली जगह किसी को आने-जाने की इजाजत नहीं दी गई।

'सन व्यू' के 6 दफ्तरों पर भी रेड

लुधियाना में मंगलवार सुबह अकाली विधायक मनप्रीत सिंह अयाली के यहां इनकम टैक्स की रेड की खबर फैलते ही हलचल मच गई। अयाली के अलावा इनकम टैक्स की टीमें शहर की प्रमुख रेजिडेंशियल कॉलोनी 'सन व्यू' के 6 दफ्तरों में भी पहुंची और जांच शुरू की। लुधियाना की सबसे पॉश कॉलोनी कही जाने वाली 'सन-व्यू' में लग्जरी विला, बंगले और अपार्टमेंट्स हैं। इसका मुख्य दफ्तर फिरोजपुर रोड पर अयाली कलां गांव में है। यहां भी विभाग की कार्रवाई दिनभर चलती रही।

किसानी संघर्ष में सहयोग करने पर कार्रवाई

उधर मनप्रीत सिंह अयाली के ओएसडी मुनीश कुमार ने दैनिक भास्कर से बातचीत में कहा कि अकाली दल के सीनियर नेता मनप्रीत सिंह अयाली केंद्र सरकार के 3 खेती कानूनों के खिलाफ आंदोलन कर रहे किसानों का लगातार समर्थन कर रहे हैं और किसानों की मदद कर रहे हैं। 15 नवंबर को ही वह एक किसान की सहायता करके आए। शायद इसी वजह से भाजपा की अगुवाई वाली केंद्र सरकार के इशारे पर केंद्रीय एजेंसियां अयाली को दबाने का प्रयास कर रही हैं। मुनीश कुमार ने कहा कि विधायक मनप्रीत सिंह अयाली और उनका परिवार प्रॉपर्टी खरीदने-बेचने का काम करता है। उनके पास पुश्तैनी​​​ जमीन है और वह जमीन की खरीद-फरोख्त भी करते रहते हैं। इनकम टैक्स के अधिकारी इसी में हुए लेनदेन की जांच कर रहे हैं।

मनप्रीत अयाली के घर के बाहर खड़ी इनकम टैक्स अधिकारियों की गाड़ियां।
मनप्रीत अयाली के घर के बाहर खड़ी इनकम टैक्स अधिकारियों की गाड़ियां।

दूसरी बार विधायक बने, 2017 में फूलका से हारे

मनप्रीत सिंह अयाली वह 2012 के पंजाब विधानसभा के चुनाव में पहली बार शिरोमणि अकाली दल के टिकट पर लुधियाना जिले की दाखां विधानसभा सीट से विधायक चुने गए। अकाली दल ने वर्ष 2017 के विधानसभा चुनाव में भी दाखां सीट से अयाली को टिकट दिया मगर वह आम आदमी पार्टी के एचएस फूलका के सामने हार गए। फूलका के विधानसभा सदस्यता से इस्तीफा दे देने की वजह से इस सीट पर उपचुनाव हुआ जिसमें अयाली पंजाब में कांग्रेस की सरकार होने के बावजूद कांग्रेसी उम्मीदवार कैप्टन संदीप संधू को हराकर दूसरी बार विधायक बने। अकाली दल साढ़े 3 महीने बाद होने वाले पंजाब विधानसभा चुनाव के लिए भी दाखां सीट से मनप्रीत सिंह अयाली की टिकट अनाउंस कर चुका है। मनप्रीत अयाली दाखां विधानसभा हलके के गांवों में बड़े स्तर पर खेल मैदान बनाने के साथ-साथ स्पोर्ट्स को प्रमोट करने की वजह से भी चर्चा में रहे।

मनप्रीत सिंह अयाली के घर तैनात सुरक्षा कर्मी।
मनप्रीत सिंह अयाली के घर तैनात सुरक्षा कर्मी।

किसानों का पक्ष लेने पर अयाली पर छापा : सुखबीर

मनप्रीत सिंह अयाली, शिरोमणि अकाली दल के प्रधान और पंजाब के पूर्व डिप्टी सीएम सुखबीर बादल के नजदीकी हैं। वह 2014 में अकाली दल के टिकट पर लुधियाना लोकसभा सीट से भी चुनाव लड़ चुके हैं। तब वह कांग्रेसी नेता रवनीत सिंह बिट्टू के सामने हार गए थे। शिरोमणि अकाली दल के प्रधान सुखबीर सिंह बादल ने कहा कि मनप्रीत सिंह अयाली केंद्र सरकार के तीनों खेती कानूनों के खिलाफ जोरदार ढंग से आवाज उठाते रहे हैं। इसी वजह से उनके घर इनकम टैक्स की रेड हुई है। केंद्र सरकार अकाली दल के उम्मीदवारों को डराने का प्रयास कर रही है मगर अकाली दल या उसके नेता किसी भी तरह के दबाव में नहीं आने वाले।

खबरें और भी हैं...