सरकार नहीं कर रही कोई सुनवाई:गडवासू में इमरजेंसी सेवाएं भी बंद, पशुओं के इलाज के लिए आए लोग वापस लौटे

लुधियाना4 महीने पहले
  • कॉपी लिंक

पंजाब एग्रीकल्चरल यूनिवर्सिटी और गुरु अंगद देव वेटरनरी व एनिमल साइंसेज यूनिवर्सिटी के टीचर्स एसोसिएशन का धरना बुधवार को भी जारी रहा। गडवासू में इमरजेंसी सेवाएं भी बंद रखी गई है। इसके कारण हॉस्पिटल में अपने पशुओं का इलाज करवाने के लिए पहुंचे लोगों को भी वापस ही लौटना पड़ा।

यहां तक कि कई गंभीर मामले को भी देखने से इंकार कर दिया गया। अध्यापकों ने कहा कि मांगें माने जाने तक सेवाएं पूरी तरह से बंद रखी जाएंगी। वहीं, अध्यापकों ने थापर हॉल के सामने अपना धरना जारी रखा। अध्यापकों ने कहा कि जब 7वें पे कमीशन को दोनों यूनिवर्सिटियों में लागू नहीं किया जाएगा धरना जारी रहेगा।

सरकारी कॉलेज अध्यापक जत्थेबंदी के नेता प्रोफेसर जैपाल सिंह ने शिक्षा और सेहत के लिए मौजूदा सरकार द्वारा की जा रही अनदेखी का विरोध किया। वेटरनरी यूनिवर्सिटी के डॉ. हरप्रीत सिंह ने कहा कि सरकार से लोगों का भरोसा उठ चुका है अध्यापकों का अपने काम छोड़कर संघर्ष की राह पर आना बहुत दुर्भाग्यपूर्ण है।

पीएयू टीचर्स एसोसिएशन के प्रधान डॉ. हरमीत सिंह किंगरा ने कहा कि आने वाले दिनों में संघर्ष को और भी तेज किया जाएगा। पीएयू टीचर्स एसोसिएशन के सेक्रेटरी डॉ मनदीप सिंह गिल और डॉ. गुरमीत कौर ने भी अध्यापकों को संबोधित किया।