मोदी की रैली रद्द होने से किसान संगठन खुश:जत्थेबंदियों ने दूसरी बड़ी जीत बताया, किरती किसान यूनियन ने कहा-यह आंदोलन में शहीद होने वालों को श्रद्धांजलि

लुधियाना7 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
सोशल मीडिया पर डाले गए पोस्ट। - Dainik Bhaskar
सोशल मीडिया पर डाले गए पोस्ट।

पंजाब के किसान संगठनों ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की फिरोजपुर रैली रद्द होने पर खुशी जताई है। पंजाब की अलग-अलग किसान यूनियनों ने इसे लोगों की एक बड़ी जीत बताते हुए कहा कि प्रधानमंत्री मोदी को बैरंग वापस जाना पड़ा। यूनियनों ने दावा किया कि यह किसानों की ‘गो बैक मोदी’ का नतीजा है।

गौरतलब है कि मोदी की फिरोजपुर तय होने के बाद किसानों ने उनका अलग-अलग तरीके से विरोध करने का फैसला लिया था। इस दौरान कुछ यूनियनों ने सड़क जाम करने की कॉल दी तो कुछ किसान जत्थेबंदियों ने जिला हेडक्वार्टर और ब्लॉक लेवल पर प्रधानमंत्री के पुतले फूंकने का प्रोग्राम रखा।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के पंजाब दौरे का विरोध करते हुए किसान यूनियनों के नेताओं ने उनके पुतले जलाए।
प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के पंजाब दौरे का विरोध करते हुए किसान यूनियनों के नेताओं ने उनके पुतले जलाए।

यह किसानों की दूसरी बड़ी जीत : BKU उग्राहां

भारतीय किसान यूनियन (उग्राहां) के महासचिव सुखदेव सिंह कोकरीकलां ने बयान जारी करके कहा कि किसान आंदोलन के दौरान 700 से ज्यादा किसानों-मजदूरों की जिंदगी लेने वाले प्रधानमंत्री की राजनीतिक बेकद्री हुई है। यह शहादतें देकर कृषि कानून वापस करवाने के बाद किसानों की दूसरी बड़ी उपलब्धि है।

सुखदेव सिंह ने कहा कि यूपी के लखीमपुर खीरी कत्ल कांड के आरोपियों पर कत्ल केस दर्ज करने की जगह किसान नेताओं को जेलों में बंद किया जा रहा है। MSP पर फसल खरीदने की गारंटी, दिल्ली चंडीगढ़ समेत सभी राज्यों में किसानों-मजदूरों पर दर्ज पुलिस केस रद्द करने जैसे लिखित वादे पूरे नहीं किए जा रहे। इसी वजह से आज प्रधानमंत्री को विरोध का सामना करना पड़ा।

पंजाब में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के दौरे का विरोध करते किरती किसान यूनियन के नेता।
पंजाब में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के दौरे का विरोध करते किरती किसान यूनियन के नेता।

लखीमपुर के दोषियों पर कार्रवाई करके आते तो स्वागत करते : राजिंदर

किरती किसान यूनियन के अध्यक्ष निर्भय सिंह ढुड्डीके और उपाध्यक्ष रजिंदर सिंह दीपसिंहवाला ने कहा कि किसानों ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का पंजाब दौरा रद्द करवाकर खेती कानूनों के खिलाफ आंदोलन में शहीद हुए अपने भाइयों को श्रद्धांजलि दी है। किरती किसान यूनियन ने ही बुधवार को अलग-अलग टोल प्लाजा और दूसरी जगहों पर प्रधानमंत्री की अर्थी फूंकी।

राजिंदर सिंह ने कहा कि किसानों ने आज मोदी को याद दिला दिया कि पंजाब के लोगों का जमीर अभी मरा नहीं है। प्रधानमंत्री अगर लखीमपुर खीरी कांड के आरोपी मंत्री को सस्पेंड करके पंजाब आते तो उनका स्वागत किया जाता मगर मोदी ने ऐसा नहीं किया। इसलिए किसानों ने उनका विरोध किया

सोशल मीडिया पर ‘गो बैक मोदी’ मुहिम

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के पंजाब दौरे के विरोध का ऐलान ‘ट्रैक्टर टू ट्विटर’ नाम के अलग अलग सोशल मीडिया प्लेटफार्म से किया गया। ‘गो बैक मोदी’ हैशटैग बुधवार को दिनभर ट्रेंड करता रहा। कई वीडियो और पोस्ट इसी हैशटैग से सोशल मीडिया पर डाली गई।

खबरें और भी हैं...