लुधियाना में हेल्थ सेंटर पर चोरों का धावा:फतेह किट, दवाइयां और ऑक्सीमीटर समेत सारा सामान चुराया, आरोपियों ने कबाड़ तक नहीं छोड़ा

लुधियाना4 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
पंजाब सरकार की तरफ से कोरोना के मरीजों को यह फतेह किट दी जाती है। जिसमें कुछ दवाइयां, ऑक्सीमीटर और अन्य कुछ सामान है। - Dainik Bhaskar
पंजाब सरकार की तरफ से कोरोना के मरीजों को यह फतेह किट दी जाती है। जिसमें कुछ दवाइयां, ऑक्सीमीटर और अन्य कुछ सामान है।

पंजाब में कोरोना वायरस के मामलों में लगभग अंकुश लगा हुआ है। मरीजों की संख्या लगातार कम हुई है और एक या दो ही मरीज रोजाना मिल रहे हैं। पंजाब सरकार की तरफ से कोरोना के मरीजों के लिए बनाई गई फतेह किट भी सेहत विभाग के अलग अलग सेंटरों पर पड़ी हुई हैं। इस बीच लुधियाना में चोरों ने अनोखी चोरी का अंजाम देते हुए हेल्थ सेंटर में पड़ी फतेह किट समेत वहां पड़ा अन्य सामान भी चोरी कर लिया। पुलिस ने आपराधिक मामला दर्ज कर चोर की तलाश शुरू कर दी है।

पुलिस को दी शिकायत में हेल्थ एंड वेलनेस सेंटर लोहारा की प्रबंधक कुलजीत कौर ने बताया है कि वह लोहारा में कम्यूनिटी हेल्थ अफसर लगी हुई हैं। सभी कर्मचारी सेंटर को ताला लगाकर दोपहर 2 बजे चले गए। जब वह लोग अगले दिन वापस आए तो देखा कि कम्यूनिटी सेंटर के ताले टूटे हुए थे। चोर ने सेंटर से कंप्यूटर के साथ साथ सात मेडिसिन किट और 15 फतेह किट व कबाड़ का कुछ सामान भी चोरी कर लिया। पुलिस ने थाना डाबा में आपराधिक मामला दर्ज किया है। जांच अधिकारी एएसआई परमजीत सिंह का कहना है कि मामले की जांच की जा रही है और आरोपित को जल्द काबू कर लिया जाएगा।

कोरोना के मरीजों को दी जाती है फतेह किट
पंजाब सरकार की तरफ से कोरोना के मरीजों को यह फतेह किट दी जाती है। जिसमें कुछ दवाइयां, ऑक्सीमीटर और अन्य कुछ सामान है। जिससे मरीज को अपना इलाज अपने घर पर ही करने में सहायता होती है। बड़े स्तर पर कोरोना के मरीजों को यह किट मुहैया करवाई गई थीं मगर अब इनका इस्तेमाल बेहद कम हो रहा है और इसमें मौजूद सामान कोई खास महंगा भी नहीं है।

विवाद में रह चुकी है किट
पंजाब सरकार की यह फतेह किट विवाद में भी रही है। लुधियाना की एक फर्म की तरफ से यह फतेह किट मुहैया करवाई गई थी और इस पर सवाल उठे थे। क्योंकि जिस फर्म ने यह किट बनाई थी वह फार्मा कंपनी में नहीं है। आरोप लगे थे कि फतेह किट की खरीद-फिरोख्त में बड़े स्तर पर गबन हुआ है।

खबरें और भी हैं...